5G Kya Hai | 5G की स्पीड, फायदे, नुक्सान और कब लांच होगा

5G Kya Hai? दोस्तों, आज इन्टरनेट का इस्तेमाल कितना ज़्यादा हो रहा है ये आप सभी को मालूम ही है | आज के इस दौर में इन्टरनेट के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है | शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो वर्तमान समय में इन्टरनेट का इस्तेमाल नहीं करता होगा | आज गाँव हो या शहर सभी लोग इन्टरनेट का इस्तेमाल कर रहे है |

इन्टरनेट के इसी बढ़ती रफ़्तार को देखते हुए इन्टरनेट कंपनी अपने इन्टरनेट की स्पीड अच्छी करने और लोगों को सही फैसिलिटी मिल सके इसके लिए हमेशा अपडेट करती रहती है | जैसा कि आप जानते हैं की वर्तमान समय में हम सभी जो इन्टरनेट का इस्तेमाल कर रहे है वो 5G technology है | लेकिन बहुत से कंपनी अपने इस 4G टेक्नोलॉजी को धीरे-धीरे 5G टेक्नोलॉजी की तरफ लेकर आ रही है |

आपके मन में यह सवाल ज़रूर आ रहा होगा कि 5G नेटवर्क क्या है और भारत में यह नेटवर्क कब तक आएगी, इसकी स्पीड कितनी होगी, इसके क्या-क्या फायदे और नुकसान होंगे | इसलिए आज के इस आर्टिकल में मैं आपको 5G नेटवर्क के बारे में जानकारी देने वाला हूँ जिसके लिए आपको इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा |

5G नेटवर्क क्या है (5G Network in Hindi)

5G पांचवी पीढ़ी का मोबाइल नेटवर्क है जो 1G, 2G, 3G और 4G नेटवर्क के बाद एक नया global wireless standard है | 5G एक नए प्रकार के नेटवर्क को सक्षम बनाता है जिसे मशीनों, वस्तुओं और उपकरणों सहित लगभग सभी को और सब कुछ एक साथ जोड़ने के लिए डिज़ाइन किया गया है | यह 4G नेटवर्क के मुकाबले काफी तेज़ नेटवर्क होगी जो यूजर के इन्टरनेट experience को और भी बेहतर बनाने के लिए डिजाईन किया गया है |

4G LTE की तरह, 5G OFDM समान मोबाइल नेटवर्किंग सिद्धांतों के आधार पर काम करता है | जो interference को कम करने के लिए कई अलग-अलग चैनलों में डिजिटल सिग्नल को modulating करने की एक विधि है | 5G OFDM सिद्धांतों के साथ-साथ 5G NR एयर इंटरफेस का उपयोग करता है | 5G व्यापक बैंडविड्थ तकनीकों जैसे कि sub-6 GHz और mmWave का भी उपयोग करता है |

5G spectrum resources के उपयोग को बढ़ाकर, 4G में उपयोग किए जाने वाले sub-3 GHz से 100 GHz और उससे आगे तक wider bandwidths लाएगा | 5G दोनों निचले band (जैसे, sub-6 GHz) और साथ ही mmWave (जैसे, 24 GHz या इससे उपर) में काम कर सकता है, जो high capacity, multi-Gbps throughput और low latency लाएगा |

5G का अविष्कार किसने किया (Who invented 5G)

कोई एक कंपनी या व्यक्ति 5G का मालिक नहीं है, लेकिन mobile ecosystem तंत्र के भीतर कई कंपनियां हैं जो 5G को जीवन में लाने में योगदान दे रही हैं | Qualcomm ने कई मूलभूत तकनीकों का आविष्कार करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है जो इस 5G industry को आगे बढ़ाती हैं और अगला wireless standard बनाती है |

5G नेटवर्क के फायदे (Advantage of 5G Network in Hindi)

  • 5G 4G की तुलना में काफी तेज हो सकता है, इसकी स्पीड 20 Gigabits-per-second (Gbps) पीक डेटा दर और 100+ Megabits-per-second (Mbps) औसत डेटा दर तक हो सकती है |
  • Medical treatment आसान हो जाएगा – एक डॉक्टर दुनिया के दूरदराज के हिस्से में स्थित रोगी का इलाज कर सकता है |
  • सुनामी, भूकंप आदि सहित प्राकृतिक आपदा का तेजी से पता लगाया जा सकता है |
  • 5G तकनीक 1G, 2G, 3G और 4G की तुलना में कम बैटरी की खपत करती है |
  • 5G अन्य तकनीकों की तुलना में एक साथ अधिक डिवाइस कनेक्ट कर सकता है |
  • 5G Virtual Private Network (VPN) को सपोर्ट करता है |
  • सुरक्षा शर्तों के अनुसार, 5G बाकी की तुलना में अधिक सुरक्षित है |

5G के नुक्सान (Disadvantage of 5G Network in Hindi)

  • 5G को बुनियादी ढांचे के विकास में उच्च निवेश की आवश्यकता है, और up-gradation and degradation भी महंगा है |
  • चूंकि 5G एक high data speed प्रदान करता है, इसलिए इसे स्मार्टफ़ोन में अधिक space capacity की आवश्यकता होती है और इसके लिए बड़ी बैटरी शक्ति की भी आवश्यकता होती है |
  • चूंकि 5G नेटवर्क टेक्नोलॉजी काम कर रही हैं, इसलिए अभी भी बहुत सारी कमियां हैं और विश्व स्तर पर चालू होने में समय लगेगा |
  • वाई-फाई सस्ता और आसानी से संभव है, इसलिए वाई-फाई पहले से ही 5जी से बेहतर विकल्प है, जिसके लिए वाई-फाई की तुलना में इसे उच्च लागत और रखरखाव की आवश्यकता होती है |

5G की स्पीड कितनी है (Speed of 5G Network in Hindi)

5G को IMT-2020 आवश्यकताओं के आधार पर 20 Gbps तक की पीक डेटा दर देने के लिए डिज़ाइन किया गया है | Qualcomm Technologies के प्रमुख 5G समाधान, Qualcomm Snapdragon X65 को डाउनलिंक पीक डेटा दरों में 10 Gbps तक प्राप्त करने के लिए डिज़ाइन किया गया है |

लेकिन 5G इससे कहीं ज्यादा है कि यह कितना तेज है| higher peak data rates के अलावा, 5G को नए स्पेक्ट्रम में विस्तार करके अधिक नेटवर्क क्षमता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जैसे कि mmWave.

5G अधिक तत्काल प्रतिक्रिया के लिए बहुत कम latency भी प्रदान कर सकता है और समग्र रूप से अधिक समान उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान कर सकता है ताकि डेटा दरें लगातार उच्च बनी रहें तब भी जब उपयोगकर्ता इधर-उधर हो रहे हों | और नया 5G NR मोबाइल नेटवर्क Gigabit LTE coverage foundation द्वारा समर्थित है, जोubiquitous Gigabit-class connectivity प्रदान कर सकता है |

FAQ (Frequently Asked Questions)

5G का इस्तेमाल भारत में कब से शुरू होगा?

5G इन्टरनेट को भारत में 2022 में लांच कर दिया जाएगा जिसके बाद आप 5G का इस्तेमाल कर पायेंगे

5G इन्टरनेट के इस्तेमाल के लिए हमें न्य मोबाइल लेने की आवश्यकता है?

अगर आपके स्मार्टफ़ोन में 5g नेटवर्क सपोर्ट करता है तभी आप 5g का इस्तेमाल अपने मोबाइल पर कर सकेंगे|

ये भी पढ़े :

मेटावर्स क्या है यह किस तरह से हमारी दुनिया को बदल देगा

स्पेस साइंटिस्ट क्या है और कैसे बने

सुपर कंप्यूटर क्या है पूरी जानकारी

निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको 5G के बारे में विस्तार से जानकारी दी जैसे 5G क्या है, 5G का अविष्कार किसने किया, 5G के क्या-क्या फायदे और नुकसान है, 5G की स्पीड कितनी होगी इत्यादि |

अगर आपने इस आर्टिकल को पूरा पढ़ा होगा तो मुझे उम्मीद है कि आपको 5G के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी | अगर आपको इस आर्टिकल 5G Kya Hai से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट में लिखकर ज़रूर बताये और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस तकनीक के बारे में जानकारी हो सके |

Leave a Comment