एटीएम का फुल फॉर्म क्या है | ATM Full Form in Hindi

Rate this post

दोस्तों, आप लोगों ने ATM के बारे में ज़रूर सुना होगा और ज़रूर इस्तेमाल करते होंगे लेकिन क्या आपको यह जानते है कि ATM का फुल फॉर्म क्या होता है, यह कैसे काम करता है और यह कितने प्रकार के होते है | अगर नहीं, तो आज के इस आर्टिकल में मैं आपको इन सभी के जवाब देने वाला हूँ |

 ATM क्या है : What is ATM in Hindi

एटीएम एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (Electronic Device) है जिसका इस्तेमाल हम पैसे निकालने के लिए करते है | इसका  उपयोग वही लोग कर सकते हैं जिसके पास किसी बैंक में खाता होता है । ATM प्राप्त करने के लिए आप अपने बैंक से संपर्क कर सकते हैं । एटीएम के होने से हमें बैंक अकाउंट से पैसे निकलने के लिए बैंक में जाने की ज़रूरत नहीं है बल्कि हम एटीएम मशीन से अपने एटीएम का इस्तेमाल करके पैसे निकाल सकते है जिससे वक्त की बचत होती है ।

KYC का Full Form क्या होता है ?

OLA का Full Form क्या होता है ?

ATM का उपयोग अधिकतर लोग Financial लेनदेन के लिए इस्तेमाल करते हैं जो बहुत ही आसान है । एटीएम आने से बैंक के बहुत सारे काम आसान हो गए हैं जिस वजह से आपने देखा होगा कि अब पहले की तरह बैंक में ज्यादा भीड़ नहीं होते हैं । क्योंकि जिनके पास एटीएम होते हैं वो लोग ATM Machine से ही पैसों का लेनदेन कर लेते हैं ।

एटीएम का फुल फॉर्म : ATM Full Form in Hindi

आपको बता दूं कि ATM का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है जिसे हिंदी में स्वचालित टेलर मशीन के नाम से जानते हैं । अगर हम इसका विश्लेसन करें तो इस प्रकार होगा :-

  • A– Automated
  • T– Teller
  • M– Machine

वैसे तो ATM का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है, लेकिम कनाडा में एटीएम को ABM के नाम से जाना जाता है जिसका पूरा नाम Automatic Banking Machine होता है । इसके अलावे कुछ देशों में ATM के लिए अलग-अलग शब्दों का उपयोग किया जाता है।

ATM कैसे काम करता है

दोस्तों ATM से पैसे निकालने के लिए आपके पास सबसे पहले प्लास्टिक का एक एटीएम कार्ड होना आवश्यक है । इसे आप अपने बैंक से issue करवा सकते हैं और जब आपके पास एटीएम कार्ड आ जाए तो कुछ मशीन में आपको ड्रॉप और कुछ मशीन में स्वैप का ऑप्शन दिया जाता है । अगर आप ड्रॉप या स्वैप उस प्लास्टिक एटीएम कार्ड को करते हैं तो आपके सारे खाते की जानकारी एटीएम मशीन में आ जाती हैं । और इसके बाद आपको पिन कोड नंबर डालना होता है सब कुछ सही होने पर एटीएम मशीन ऑटोमेटिक आपके अकाउंट से ट्रांजैक्शन कर देती हैं ।

ATM के basic parts क्या है

यह एक यूजर-फ्रेंडली मशीन है | यह लोगों को आसानी से पैसा निकालने या जमा करने में सक्षम बनाने के लिए विभिन्न डिवाइस पेश करता है | एटीएम के बुनयादी डिवाइस नीचे दिए गए है |

1. Card Reader

यह डिवाइस card के डाटा को पढ़ता है जो एटीएम card के पिछले हिस्से के magnetic strip में स्टोर रहता है | जब कार्ड को स्वाइप किया जाता है या दिए गए स्थान में डाला जाता है तो card reader अकाउंट की details को कैप्चर करता है और server को भेजता है |

2. Keypad

यह यूजर को मशीन द्वारा पूछे गए details जैसे :- personal identification number, राशि, रशीद की आवश्यकता है या नहीं आदि प्रदान करने में मदद करता है | पिन नंबर encrypted रूप से server को भेजा जाता है |

3. Speaker

यह एटीएम में किसी button को दबाए जाने पर audio feedback प्रदान करता है |

4. Display Screen

यह स्क्रीन पर लेन-देन से संबंधित जानकारी display करता है | यह नकद निकासी के steps को एक-एक करके दिखाता है | यह CRT या LCD स्क्रीन हो सकती है |

5. Receipt Printer

यह आपको लेन-देन के details के साथ एक रशीद प्रदान करता है | इसमें लेन-देन की तारीख और समय, निकासी राशि और शेष राशि आदि जानकारी मौजूद होती है |

6. Cash Dispenser

यह एटीएम का मुख्य डिवाइस होता है क्यूंकि यह नकदी का वितरण(dispenses) करता है | एटीएम में मौजूद high precision sensor कैश डिस्पेंसर को यूजर द्वारा आवश्यकता अनुसार नकदी निकालने की अनुमति देता है |

ATM क्या-क्या काम करता है

वर्तमान समय में एटीएम का इस्तेमाल सिर्फ पैसे निकालने के लिए ही नहीं बल्कि कई और कामों के लिए भी किया जाता है जिनमें से कुछ है |

  • Fund Transfer
  • Cash and Check Deposit
  • Cash withdrawal
  • Balance Enquiry
  • PIN Change and Mini Statement
  • Bill payment and Mobile Recharge, etc.

ATM कितने प्रकार के होते है

ATM कार्ड के कई प्रकार होते है जो इस प्रकार है |

1. VISA ATM Card

इस प्रकार के कार्ड आपको हर जगह मिल जांयेंगे | दुनिया के 200 से अधिक देशों में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है । लेन-देन के दौरान, इस कार्ड से जुड़े आपके बचत खाते से वास्तविक समय में पैसा डेबिट हो जाता है । वीज़ा कार्ड काफी सुरक्षित होता है, जैसे वीज़ा द्वारा transaction यह सुनिश्चित करती हैं कि आपका लेनदेन सुरक्षित है या नहीं । इस कार्ड के साथ, आप भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों शॉपिंग साइटों पर खरीदारी कर सकते हैं, अपने उपयोगिता बिलों जैसे टेलीफोन, पानी, बिजली, गैस आदि का भुगतान कर सकते हैं।

2. Mastercard ATM Card

इस कार्ड के साथ, आप दुनिया भर में अपने कैश तक पहुंचने का लाभ उठा सकते हैं । मास्टरकार्ड यूजर 24 घंटे uninterrupted बैंकिंग सेवाओं का आनंद ले सकते हैं, जिनका उपयोग कार्ड के खो जाने या चोरी होने जैसी आपात स्थितियों के दौरान किया जा सकता है । इसका इस्तेमाल आप खरीदारी, यात्रा, टिकट बुकिंग के लिए ऑनलाइन लेनदेन कर सकते हैं और साथ ही एटीएम केंद्रों से पैसे निकाल सकते हैं।

3. Maestro ATM Card

Maestro को 1.5 करोड़ से अधिक POS (Point of Sell) में मान्यता प्राप्त है । इसका मतलब है कि आप भारत के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय वेबसाइटों में भी सुरक्षित ऑनलाइन लेनदेन कर सकते हैं । आपको अपने मेस्ट्रो card पर मास्टरकार्ड सिक्योरकोड की 2-factor authentication सुविधा के साथ अतिरिक्त सुरक्षा भी मिलती है।

4. Platinum ATM Card

इन कार्डों में नकद निकासी की सीमा अधिक होती है और लेनदेन की सीमा भी अधिक होती है । प्लेटिनम डेबिट कार्ड आम तौर पर उन ग्राहकों के लिए होते हैं जो उच्च नकद निकासी में रुचि रखते हैं, हालांकि लेनदेन की एक सीमा होती है । यदि आप लगातार डेबिट कार्ड के उपयोगकर्ता हैं और अच्छे पुरस्कारों का आनंद लेना चाहते हैं, तो यह कार्ड आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

ATM से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बाते

  • एटीएम का अविष्कार John Shepherd Barron ने किया था |
  • John Shepherd Barron ने एटीएम के लिए 6 अंको का पिन नंबर रखने के बारे में सोचा था लेकिन उनके पत्नी को 6 अंको का पिन नंबर याद रखना आसान नहीं था इसलिए उन्होंने 4 अंको का पिन नंबर रखा |
  • दुनिया का पहला एटीएम 27 जून 1967 को Barclays Bank of London में स्थापित किया गया था।
  • एटीएम से पैसे निकालने वाले दुनिया के पहले व्यक्ति प्रशिद्ध कॉमेडी अभिनेता Reg Varney थे |
  • भारत का पहला एटीएम 1987 को HSBC (Hongkong and Shanghai Banking Corporation) में स्थापित किया गया था।
  • Romania, जो एक यूरोपीय देश है, जहाँ अप बिना बैंक खाते के एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं।
  • Brazil में बायोमेट्रिक एटीएम का इस्तेमाल किया जाता है। जैसा कि नाम से पता चलता है, यूजर को पैसे निकालने से पहले इन एटीएम में अपनी उंगलियों को स्कैन करना होता है।

यह भी पढ़े :-

CCTV का Full Form क्या होता है ?

WHO का Full Form क्या होता है ?

BMW का Full Form क्या होता है ?

PDF का Full Form क्या होता है ?

दोस्तों, इस आर्टिकल में मै आपको एटीएम से जुडी सारी जानकारी दी मुझे उम्मीद है की आपको ATM Full Form in Hindi पसंद आया होगा | अगर आपको ATM से संबंधित और भी सवाल है तो आप हमें ईमेल में बता सकते है | और अगर आपको यह post पसंद आया है ती इसे ज़रूर share करें |

Leave a Comment