CID ka Full Form क्या होता है | CID का क्या काम होता है

Rate this post

CID ka full form? दोस्तों, सभी देशों में अपराधी मामलो को हल करने के लिए बहुत से investigation agency होते है | उसी तरह भारत देश में भी अपराधी मामलो को हल करने के लिए बहुत सारे agency है जिसमे एक नाम बहुत प्रसिद्ध है जिसका नाम CID है | आपने इसका नाम ज़रूर सुना होगा | इसके बारे में अक्सर न्यूज़ चैनल या न्यूज़ पेपर पर आता रहता है |

लेकिन आपके मन में CID full form, CID ka full form, CID क्या है, सीआईडी का मतलब क्या होता है, CID बनने के लिए क्या करना होता है, CID की सैलरी कितनी होती है इस प्रकार के सवाल ज़रूर आते होंगे | अगर आप इस तरह के सवाल के जवाब की तलाश कर रहे है तो आप बिलकुल सही जगह आयें है |

आज के इस article में मैं आपको इन सभी के बारे में बताने जा रहा हूँ अगर आप भी इन सवालों के जवाब जानना चाहते है तो इस article तो पूरा पढ़े तो चलिए बिना समय को बर्बाद किये शुरू करते है |

CID का फुल फॉर्म : CID Full Form in Hindi

CID का फुल फॉर्म Crime Investigation Department होता है जिसे हिंदी में अपराध जाँच विभाग कहते है |

  • C : Crime
  • I : Investigation
  • D : Department

CID का क्या मतलब होता है : Meaning of CID in Hindi

जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि इसका पूरा नाम Crime Investigation Department होता है जिसका मतलब अपराध जाँच विभाग होता है | यह Indian state police की एक जाँच और ख़ुफ़िया शाखा है | यह राज्य के अन्दर होने वाले घटना की जाँच करती है और state government के order पर काम करती है |

CID पुलिस संगठन की सबसे महत्वपूर्ण इकाई में से एक है और इसका संचालन Additional Director General of Police (ADGP) के द्वारा किया जाता है | यह खिफिये तौर पर अपना काम करते है ताकि अपराधी को पता न चल सके कि उन पर जाँच किया जा रहा है | इनकी पुलिस की तरह कोई वर्दी नहीं होती है यह आम तौर पर सामान्य कपडे में ही अपने काम को अंजाम देते है |

> BMW का Full Form क्या होता है 

> ITI का Full Form क्या होता है 

> PDF का Full Form क्या होता है

CID ऑफिसर कैसे बने

ज़्यादातर लोग डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते है जो अलग करना चाहते है | जैसे CID ऑफिसर बनना और अगर आप CID ऑफिसर बनना चाहते है तो आपको अपनी तैयारी बहुत जल्द शुरू कर देना चाहिए | तो चलिए दोस्तों जानते है कि CID ऑफिसर बनने के लिए आपको क्या करना होगा |

एक CID ऑफिसर बनने के लिए आपको लिखित परीक्षा, शारीरिक टेस्ट और इंटरव्यू की चयन प्रक्रिया से गुज़ारना होता है |

सबसे पहले CID ऑफिसर के उमीदवारों को एक लिखित परीक्षा देना होता है इसके बाद उम्मीदवार का शारीरिक टेस्ट किया जाता है अगर उम्मीदवार इन दोनों में पास हो जाता है तब उसका इंटरव्यू लिया जाता है | इंटरव्यू में लिए अंक के आधार पर ही उम्मीदवार एक सीआईडी ऑफिसर बनता है |

CID ऑफिसर की परीक्षा UPSC और SSC के द्वारा हर साल कराई जाती है | आप इनके website www.upsc.gov.in या www.ssc.nic.in पर जाकर online check कर सकते है |

इसकी परीक्षा दो भागों में होती है | पहले परीक्षा में 200 अंक का पेपर होता है जिसमे 2 घंटे का समय मिलता है और दूसरा पेपर 400 अंक का होता है जिसके लिए 4 घंटे का समय मिलता है | अगर आप इन दोनों परीक्षा और शारीरिक टेस्ट में पास हो जाते है तो आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और इंटरव्यू में भी पास होने के बाद आप एक CID ऑफिसर बन जाते है |

CID ऑफिसर बनने के लिए योग्यताएं

जैसा कि आपने ऊपर जाना कि सीआईडी ऑफिसर कैसे बना जाता है आईये अब हम जानते है कि सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए क्या-क्या ज़रूरी होता है |

  • CID ऑफिसर के उम्मीदवारों को भारत का नागरिक होना ज़रूरी है |
  • CID ऑफिसर बनने के लिए general category के उम्मीदवारों की आयु सीमा 20 से 27 साल होना चाहिए जबकि OBC के लिए 20 से 30 साल और SC & ST के लिए 20 से 35 साल होना चाहिए |
  • एक CID ऑफिसर बनने के लिए आपको कम से कम 12वीं की परीक्षा पास करना ज़रूरी है |
  • अगर उम्मीदवार इसमें किसी high post पर जाना चाहते है तो उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से graduate होना ज़रूरी है |
  • और इन सभी के अलावा एक CID ऑफिसर बनने के लिए आपके पास तेज़ दिमाग, मज़बूत शरीर और किसी भी काम को सुलझाने की काबिलियत होनी चाहिए |

CID ऑफिसर का क्या काम होता है

CID ऑफिसर का मुख्य कार्य बलात्कार, चोरी, हत्या, डकैती आदि जैसे अपराधिक मामलो की जाँच करना और उसे हल करना होता है | यह आपराधिक मामलों और धोकधदी के लिए तथ्व और सबूत इकट्ठा करता है और अपराधियों को पकड़ता है | ये जाँच अपराध के स्तर के आधार पर कई शहरों और राज्यों में हो सकती है | CBI टीम मामलों की जाँच के लिए स्थानीय पुलिस की भी मदद लेती है |

> Digital Marketing क्या है 

> Artificial Intelligence क्या है

> Cryptocurrency क्या है 

CID के शाखाएं : Branches of CID

CID के कई शाखाएं होती है जैसे :-

  • CB-CID
  • Human Rights Department
  • Anti-Narcotics Cell
  • Anti-Terrorism Wing
  • Finger Print Bureau
  • Anti-Human Trafficking
  • Missing Person cell
  • Bank Frauds
  • Dog Squad

CID में अधिकारियों के रैंक : Officer’s Rank in CID

  • Sub-Inspectors
  • Inspectors
  • Superintendents
  • Additional Director General of Police
  • Inspector General of Police (IGP), etc.

CID ऑफिसर की सैलरी : Salary of CID Officer

CID ऑफिसर की सैलरी उनके rank और branches पर निर्भर करती है | इन्ही rank और branches के आधार पर ऑफिसर को सैलरी दी जाती है | किसी की सैलरी कम तो किसी की ज्यादा होती है | अगर एक normal CID ऑफिसर की सैलरी की बात करें तो 25,000 से लेकर 40,000 तक की सैलरी होती है |

CID की शुरुआत कब हुई थी ?

CID की शुरुआत साल 1902 में हुई थी |

CID की शुरुआत किसने किया था ?

CID की शुरुआत British Government ने किया था |

CID का headquarter कहाँ स्थित है ?

CID का headquarter भारत के पुणे शहर में स्थित है |

अंतिम शब्द :

दोस्तों, आज आपने CID full form और CID से जुड़ी और भी चीजों के बारे में जाना | मुझे उम्मीद है कि आपको CID के बारे में काफी जानकारी मिल गई होगी | अगर आपको CID ka full form से कोई सवाल है तो आप comment में ज़रूर बताये | अगर आपको यह article पसंद आया हो तो आप इसे social media पर ज़रूर share करें |

Leave a Comment