Computer kya hai और इसके कितने प्रकार है ?

Rate this post

Computer kya hai ? Computer आज हमारे जीवन में महत्वपूर्ण अंग बन गया है वैसे तो भारत में computer का प्रचलन सन 1980 के दशक में शुरू हुआ था| तब उस समय बहुत कम लोग इसका प्रयोग करते थे, लेकिन दिन-प्रतिदिन computer का विकास होता रहा और इसकी उपयोगिता बढती गयी|

साथ ही इसका प्रयोग करना आसन हो गया, जिसके कारन यह जल्दी ही सभी छेत्रो में आवश्यक Tool की तरह प्रयोग किया जाने लगा| यदि किसी व्यक्ति के पास Internet या Multimedia-based computer है तो उसे खड़ी, कैलेंडर, टेलीविज़न, टेप-रिकॉर्डर, रेडियो आदि खरीदने की आवश्यकता नहीं, क्यूंकि इनके कार्य computer पर किये जा सकते है|

अब हम computer के बारे में विस्तार से जानेंगे कि computer kya hai, यह कैसे काम करता है|

Computer kya hai – What is Computer in Hindi

Computer एक electronic machine है, जिसमे हम ‘raw-data’ देकर उसे ‘program’ के नियंत्रण द्वारा ‘meaningful-information’ में बदल सकते है|

Computer में कृत्रिम(artificial) बुधि होती है, जिसके आधार पर वह किसी को याद रखने, calculation का परिणाम देने और तर्क-वितर्क द्वारा सोच-विचारकर समस्या का समाधान करने में उपयोगी है| computer के कृत्रिम(artificial) को प्रोग्राम कहते है, जिसके आधार पर ही computer कार्य करता है

Analytical Engine दुनिया का पहला computer था, जिसे Charles Babbage ने 1837 में बनाया था Charles Babbage को computer का Father of Computer कहा जाता है |

अब हमें यह जानना होगा की raw-data, program और meaningful-information क्या होता है?

रॉ-डेटा(Raw-Data) क्या है?

Computer को दिए जानेवाले input रॉ-डेटा कहलाते है| उदाहरण के लिए, यदि आप बिजली का बिल बनाना चाहते है तो उपभोक्ता का नाम, पता, खर्च की गई बिजली की यूनिट एवं अवधि रॉ-डेटा के रूप में computer को देना होगा| Modern Computer में डेटा शब्दों में ही नहीं, बल्कि आवाज, चित्र, विडियो आदि के रूप में दिया जा सकता है|

प्रोग्राम(Program) क्या है?

निर्देशों के Sequential समूह को प्रोग्राम कहते है Computer में प्राकृतिक बुधि नहीं होती है| Computer एक कृत्रिम(Artificial) Machine है यह केवल electricity संकेत और switch की ऑन-ऑफ़ अवस्थाओं को समझ पाता है|

Computer को क्या काम करना है और वह कैसे किया जायेगा, यह निर्देश computer की विशेष भाषा(Programming Language) में लिखकर देना होता है|कार्य की प्रत्येक स्टेप को बहुत ही स्पष्ट करते हुए Sequential करके लिखा जाता है, ताकि computer उस प्रोग्राम में दिए गये स्टेप को बारी-बारी से समझते हुए उसका अनुपालन कर सके| Computer को दिए जानेवाले निर्देश के इस समूह को प्रोग्राम कहते है|

मीनिंगफुल-इन्फोर्मेशन(Meaningful-Information) क्या है?

Computer द्वारा data processing के बाद जो जानकारी प्राप्त होती है उसे मीनिंगफुल-इन्फोर्मेशन कहते है| उदहारण के लिए, यदि आप बिजली का बिल तैयार कर रहे है तो मीटर रीडिंग के आधार पर खर्च की गई यूनिट कैलकुलेट करके बिल बनाते है, जिसे प्रिंट किया जाता है, वही मीनिंगफुल-इन्फोर्मेशन है|

पर्सनल कंप्यूटर(Personal Computer) क्या है?

Personal Computer, जिसे हम P.C. भी कहते है, सबसे ज्यादा प्रयोग होनेवाला computer है| P.C. में लगने वाले प्रमुख component, जिसे microprocessor कहते है, उसके नाम और ब्रांड के आधार पर computer को Pentium, Dual-Core, Core-i3, Core-i5 आदि नामों से भी पुकारा जाता है आईये, अब computer के भागों के बारे में जानते है| P.C. के प्रमुख चार भाग होते है |

  1. keyboard
  2. Mouse
  3. System Unit or C.P.U.
  4. Monitor

Keyboard क्या है ?

की-बोर्ड (Keyboard) computer की प्रमुख Input device है| computer में टाइप करके text के रूप में डेटा देने के लिए की-बोर्ड (Keyboard) का प्रयोग किया जाता है| यदि की-बोर्ड (Keyboard) ठीक काम नहीं करता है तो computer कार्य करने हेतु तैयार नहीं होता और error message दिखता है|

Mouse क्या है ?

माउस (Mouse) एक input device है, जो screen पर graphic image या menu को डायरेक्ट चुनकर प्रयोग करने में सहायक है|

System Unit or C.P.U. क्या है ?

System unit ही मुख्य computer है| सिस्टम यूनिट को सी.पी.यू. नाम से भी पुकारा जाता है| बॉक्स की तरह दिखने वाला यह computer का प्रमुख भाग है| computer में हूनेवाले सभी कार्य जैसे memory-storage, calculation, processing आदि इसी सिस्टम-यूनिट में किये जाते है|

Monitor क्या है ?

मॉनिटर (Monitor) computer की अपेक्षा प्रत्येक गतिविधि पर नज़र रखता है और उसकी रिपोर्ट हमे screen पर दिखाता रहता है| कंप्यूटर में होनेवाली सभी घटनाओं और input और output को screen पर दिखने के लिए मॉनिटर (Monitor) का प्रयोग किया जाता है|

computer का विभिन्न क्षेत्रों में प्रयोग

आज के आधुनिक समाज में computer का बहुत बड़ा योगदान है शायद ही कोई क्षेत्र होगा, जहाँ computer महत्वपूर्ण भूमिका न निभाता हो लगभग सभी सरकारी एवं प्राइवेट जगहों में कंप्यूटर का खूब प्रयोग हो रहा है |

बैंक एवं अन्य वित्तीय संस्थानों में computer का प्रयोग खाते रखने के लिए किया जाता है |

स्कूलों में गणित, विज्ञान और भूगोल जैसे विषय पढ़ाने में computer का प्रयोग किया जाता है| इसका प्रमुख लाभ यह है की टीचर को बार-बार रेखाचित्र व मानचित्र को बोर्ड पर बनाने और मिटाने की जरुरत नहीं पड़ती, बल्कि computer पर बनाये रेखाचित्र और मानचित्र को मात्र एक बटन दबाकर screen पर दिखाया जाता है|

Computer के फायदे – Benefits of Computer in Hindi

  • एक Computer आपकी उत्पादकता को बढ़ाता है उदहारण के लिए, word-processor की बुनयादी समझ होने के बाद आप documents को आसानी से create, edit और store कर सकते है और उसे print भी कर सकते है |
  • यह आपको internet से जोड़ता है जो आपको email भेजने, browse करने, जानकारी प्राप्त करने, social media platform का उपयोग करने और बहुत कुछ करने की अनुमति देता है internet से जुड़कर आप अपने लंबी दुरी के दोस्तों और रिश्तेदारों के सदस्यों से भी जुड़ सकते है |
  • computer आपको बड़ी मात्र में जानकारी store करने की अनुमति देता है आप इसमें अपनी projects, ebooks, picture, songs, videos आदि store कर सकते है .
  • यह न केवल आपको data store करने की अनुमति देता है बल्कि आपको अपने data को organize करने में भी मदद करता है उदहारण के लिए, आप अलग-अलग data और information के लिए अलग-अलग folders बना सकते है जिससे आपको इसे खोजने में आसानी होगी |
  • यदि आपकी english अच्छी नहीं है तो ये आपको english लिखने में मदद करता है इसी तरह यदि आप गणित में अच्छे नहीं है और आपकी याददाश्त अच्छी नहीं है तो आप गणना करने और परिणामों को संगृहीत करने के लिए computer का इस्तेमाल कर सकते है |

Computer के कितने प्रकार है ?

जब हम computer के बारे में बात करते है तो हमारे दिमाग में सिर्फ लैपटॉप या पी.सी. का ख्याल आता है लेकिन computer सिर्फ यही तक सिमित नहीं है अगर हम सही नज़र से देखें तो computer हमारे चारो तरफ है |

computer को तीन अलग-अलग आधार पर बांटा गया है|

  1. कार्यप्रणाली के आधार पर(Based on Mechanism)
  2. उदेश्य के आधार पर(Based on Purpose)
  3. आकर के आधार पर(Based on Size)

1. कार्यप्रणाली के आधार पर computer के प्रकार

कार्यप्रणाली के आधार पर computer को तीन भागो Analog, Digital and Hybrid में बांटा गया है |

Analog Computer

Analog computer वैसे computer को कहते है जो भौतिक मत्राओ जैसे-तापमान(Tempreture), लम्बाई(Length), ऊंचाई(Height), वज़न(Weight) आदि को मापकर उनके परिणाम अंको में दिखता है|

Analog computer का प्रयोग मुख्य रूप से वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग छेत्र में ज्यादा होता है क्यूंकि इन छेत्रो में मात्राओ का ज्यादा प्रयोग होता है|

Thermometer Analog computer का एक उदहारण है पेट्रोल पंप पे भी Analog computer का इस्तेमाल किया जाता है जो पंप से पेट्रोल निकलने के बाद पेट्रोल की मात्रा को मापता है और लीटर के रूप में screen पे दिखता है |

Digital Computer

Digital computer वह computer को कहते है जो अंको की गणना के लिए इस्तेमाल किया जाता है यह Analog computer से slow होती है calculator Digital computer का एक उदहारण है |

Hybrid Computer

Hybrid computer में Analog and Digital दोनों के गुण होते है| यह Analog computer की तरह fast और Digital computer की तरह accuracy होता है|

Speedometer, Petrol Pump Machine आदि Hybrid computer का एक उदहारण है|

2. उदेश्य के आधार पर computer के प्रकार

उदेश्य के आधार पर computer को दो General Purpose Computer और Special Purpose Computer में बांटा गया है|

General Purpose Computer

जिस computer से सामान्य कार्य किये जाते है उसे General Purpose Computer कहते है| इसका प्रयोग ज्यादातर घरो एवं दुकानों आदि पर किया जाता है|

Special Purpose Computer

यह computer विशेष कार्य के लिए इस्तेमाल किये जाते है| इनका प्रयोग मौसम विज्ञान, कृषि विज्ञान, युद्ध एवं अंतरीक्ष आदि विज्ञान में किया जाता है|

3. आकार के आधार पर computer के प्रकार

आकार के आधार पर computer पांच भागो में बांटा गया है |

Micro Computer

यह computer आकार के छोटे होते है| इन computer का विकास 1970 के दशक में हुआ था  इन computer में microprocessor का प्रयोग किया जाता है| इस computer को PC भी कहा जाता है |

Micro Computer भी कई  प्रकार के होते है |

Desktop : यह computer एक छोटे microprocessor पर आधारित computer है| इसे Personal Computer भी कहा  जाता है तथा यह सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला रूप(Form) है |

Laptop : कुछ वर्षो में हुए तकनिकी विकास ने micro computer का आकार इतना छोटा क्र दिया है की उन्हें आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है ऐसे portable computer को Laptop कहा जाता है |

Palmtop : यह Laptop की तरह portable personal computer है| यह laptop से भी हल्का और छोटा होता है| यह handheld operating system का उपयोग करता है |

Tablet : Tablet और Laptop एक तरह से सामान है, परन्तु टेबलेट PC नोटबुक computer से ज्यादा सुविधाजनक है| ये दोनों ही portable है, परंतु प्रयुक्त सॉफ्टवेर, स्क्रीन आदि की विभिंता से दोनों में अंतर है| Tablet की screen पर आप बिना keyboard की सहायता से लिख सकते है, परन्तु नोटबुक में नहीं|

Mini Computer

Mini computer आकार में micro computer से बड़े होते है| इन computer की कर्यछामता तथा कीमत दोनों ही micro computer की तुलना में अधिक होती है| इन प्रकार के computer पर एक या एक से अधिक व्यक्ति एक समय में एक से अधिक कार्य कर सकते है| इनका उपयोग छोटी या मध्यम स्तर की कंपनिया करती है| Mini computer की speed 10 से 30 MIPS(Million Instruction per Second) होती है |

HP 9000, RISC 6000, BULL HN-DPX2 आदि Mini computer के प्रकार है |

Mainframe Computer

ये computer आकर, कर्यछामता और कीमत में Mini तथा Micro computer से आधिक बड़े होते है| अधिकतर कंपनिया में mainframe computer का उपयोग भुक्तानो का ब्यौरा रखने, कर्मचारियों का भुकतान करने, उपभोक्ताओं द्वारा खरीदी की गयी वस्तुओ का ब्यौरा रखने आदि कार्यो के लिए किया जाता है |

CRAY-1, CDS-CYBER, IBM 4381, ICL 39, UNIVAC-1110 आदि mainframe computer के प्रकार है|

Super Computer

ये विशेष प्रकार के computer होते है| इनका निर्माण विशेष कार्य के लिए किया जाता है| ये दुनिया का सबसे तेज़ और बड़ा computer है| इसका आकर एक सामान्य कमरे के बराबर होता है|विश्व का पहला super computer ‘K-Research Company’ के द्वारा 1976 में बनाया गया Cray-1 था |

भारत का पहला super computer PARAM है जिसे C-DAC ने बनाया था |

Workstation Computer

यह computer का इस्तेमाल छोटे व्यापार में server के रूप में किया जाता है| इस computer की कार्य करने की छमता micro computer की अपेछा अधिक होती है |

Conclusion

दोस्तों, आज हमने आपको computer kya hai, इसके कितने प्रकार होते है आदि के बारे में जानकारी दी आप हमें comment में बताएं आपको यह article कैसा लगा और अपने दोस्तों को भी share करे |

Leave a Comment