ISRO Full Form in Hindi | इसरो(ISRO) क्या है पूरी जानकारी

Rate this post

हेलो दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हम ISRO Full Form in Hindi के बारे में जानेंगे, क्या आपको पता है कि ISRO Ka Full Form क्या होता है या फिर ISRO क्या है अगर नहीं तो यह आर्टिकल आपको पूरा पढ़ना चाहिए क्यूंकि आज इस आर्टिकल में पूरे विस्तार से इसरो(ISRO) के बारे में बताया गया है|

भारत को अंतरिक्ष से सम्बंधित जानकारी पाने के लिए एक ऐसे टेक्नोलॉजी की जरूरत पड़ी जिससे की आंतरिक्ष में स्थित बहुत सारे ग्रह के बारे में जानने को मिल सके जैसे चंद्रग्रह पर कैसा वातावरण है इत्यादि| भारत एक विकसित देश है ये बात आप सभी जानते होंगे भारत ने साइंस के क्षेत्र में काफी प्रगती की है जिसमे सबसे प्रमुख योगदान ISRO का रहा है| आज के समय में साइंस और अंतरिक्ष से संबंधित कोई भी बात होती है तो अक्सर न्यूज़ पेपेर और टीवी चैनल पर इसरो का नाम ज़रूर आता है|

भारत ने अंतरिक्ष में जाने का फैसला तब किया जब 1962 में भारत सरकार द्वारा अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए भारतीय राष्ट्रीय समिति (INCOSPAR) की स्थापना की गई|

ISRO Full Form in Hindi

ISRO का फुल फॉर्म Indian Space Research Organisation है हिंदी में इसका मतलब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन होता है|

  • I : Indian
  • S : Space
  • R : Research
  • O : Organisation

ISRO Ka Full Form

जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि ISRO का फुल फॉर्म Indian Space Research Organisation होता है| यह भारत का राष्ट्रीय अंतरीक्ष संस्थान है जिसे भारत सरकार के space संगठन द्वारा मैनेज किया जाता है|

  • ISRO :- Indian Space Research Organisation

ISRO क्या है : What is ISRO in Hindi

Indian space research organisation जिसे isro भी कहा जाता है| इसरो भारत के सबसे बड़े स्पेस एजेंसी है जो भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की देख रेख करता है और उस पर काम करता है| इसरो ने भारत का नाम देश मेंहीनहीं बल्कि विदेशो में भी भारत का नाम ऊचां किया है| इस संसथान का मुख्य कार्य भारत के लिए अंतरीक्ष सम्बंधित तकनीक उपलब्ध करवाना है|

ISRO दुनिया की टॉप 5 सबसे बड़ी अंतरीक्ष एजेंसी में से एक है और इसरो अब तक 370 satellite अंतरीक्ष में भेज चुका है| जिसमें से 101 भारत के लिए और 169 विदेशों के satellite भेजे जा चुके हैं|

ISRO ने दूर संचार, टेलीविजन प्रसारण, मौसम विभाग और आपदा चेतावनी के लिए भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह यानी Indian National Satellite और धरती के संसाधन निगरानी और प्रबंधन के लिए Indian Remote Sensing (ISR) Satellite सहित कई अंतरीक्ष प्रणाली की शुरुआत की है|

ISRO के संस्थापक कौन हैं

ISRO के संस्थापक  Dr. Vikram Ambalal Sarabhai (डॉ. विक्रम अम्बालाल साराभाई) है जिन्होंने 15 अगस्त 1969 में इसका निर्माण किया था| इसलिए डॉ. विक्रम अम्बालाल साराभाई को भारत में अंतरीक्ष कार्यक्रमों का संस्थापक जनक माना जाता है|

ISRO का मुख्यालय कहाँ स्थित है

ISRO का मुख्यालय भारत के बेंगुलुरू शहर में स्थित है जो भारत सरकार के निर्देश पर कार्य करती है और स्पेस में होने वाली हर कार्य का रिपोर्ट सीधे देश के प्रधानमंत्री को देती है|

ISRO के वर्तमान अध्यक्ष कौन हैं

इसरो के वर्तमान अध्यक्ष Dr. Kailasavadivoo Sivan (कैलासवादिवु सिवान) हैं|

ISRO की स्थापना कैसे हुई

भारत मे अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की शुरुआत 1960 के करीब हुई थी| ISRO के जनक विक्रम सारा भाई ने देश के सक्षम विज्ञानीको, मानव विज्ञानीको और समाज विज्ञानीको को मिलाकर भारतीय अंतरिक्ष के नेतृत्व करने के लिए एक दल बनाया और यहीं से इसरो की सफलता की शुरुआत हो गई| भारत के केरल में एक मछुआरे गाँव में 21 नवम्बर 1963 को अपना पहला राकेट लांच किया गया था राकेट को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए साईकल का इस्तेमाल किया गया था|

साल 1969 को इसरो की नींव रखी गई थी और 1972 में अंतरिक्ष आयोग और अंतरिक्ष विभाग का गठन किया गया था| अंतरिक्ष में 19 अप्रैल 1975 में पहला बड़ा क़दम रखा इस दिन भारत का पहला उपग्रह आर्य भट्ट के नाम से लांच किया गया प्रयोगिक उपग्रह का वजन 300 किलोग्राम था| 10 अगस्त 1979 को SLV-3 का प्रयोग नात्मक परीक्षण किया गया था| 30 अगस्त 1983 को INSAT-1B का परक्षेपन किया गया था 1984 तक INSAT तकनीक से दूरसंचार टेलीविज़न जैसे सुविधावों प्राप्त होन लगी| क्या आपको पता है कि भारत के कौन इंसान सबसे पहले अंतरिक्ष में गए अगर नहीं तो आज जान ले उनका नाम राकेश शर्मा था|

12 सितम्बर 2002 में अंतरिक्ष में जाने वाली देश की पहली महिला थी जिनका नाम कल्पना चावला था| उनके नाम पर उस सेटेलाइट को कल्पना-1 सेटेलाइट लांच किया गया था| इसके बाद 22 अक्टूबर 2008 को चंद्रयान 1 का सफल परक्षेपन किया गया था|

भारत एक ऐसा देश है जिसने पहली बार में ही मंगलयान पर पहुचने में सफलता प्राप्त की इससे पहले अमेरिका ने 5 बार में सफलता प्राप्त की और यूरोपियन ने 8 बार में सफलता प्राप्त की|

ISRO के बारे में रोचक जानकारी

  • ISRO के अपने पहले चंद्रयान के लांच में करीब 390 करोड़ का खर्चा हुआ था जो नासा के सेमेलर मिशन से 9 गुना कम है|
  • ISRO के development में सबसे बड़ा हाथ विक्रम सारा भाई का है इन्हें father of indian space भी कहा जाता है|
  • भारत ने अब तक 370 सेटेलाइट को लांच कर चुका है|
  • ISRO ने 21 देशो के लिए 79 सेटेलाइट लॉंच किये है जिससे इसरो की 700 करोड़ की कमाई हुई थी|
  • भारत एक ऐसा देश है जिसने mars पर पहली ही कोशिश में सफलता हासिल कर ली थी|
  • APJ Abdul Kalam Sir इसरो के मेंबर थे और इसी वक़्त इसरो ने अपना पहला राकेट केरला के एक गांव धुम्बा से लॉंच किया था|
  • राष्ट्रपति रह चुके ऐपीजे अब्दुल कलाम ने space फील्ड में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा है| जब भारत का पहला सेटेलाइट लॉन्च हुआ था तब उसके हेड ऐपीजे अब्दुल कलाम थे| इसके बाद डॉक्टर ऐपीजे अब्दुल कलाम ने DARDO में मिसाइल के प्रोजेक्ट में अपना मुख्य भूमिका निभाई थी|
  • इसरो ने 1975 में अपना पहला सेटेलाइट बनाई थी जिसका नाम आर्य भट्ट था| इसको लांच करने के लिए इसने USSR से मदद ली थी|
  • 1981 में इसरो ने apple सेटेलाइट लांच किया था| apple सेटेलाइट को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने के लिए बैलगाड़ी का इस्तेमाल किया गया था|
  • इसरो में काम करने वाले हर employee के साथ अच्छा व्यवहार किया जाता है वहाँ पर कोई भेद भाव नहीं होता है यहाँ तक कि सभी के लिए एक ही canteen मौजूद है जिसमें जूनियर से ले कर सीनियर तक सभी एक जगह बैठकर साथ खाना खाते हैं|

निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल ISRO Full Form in Hindi में आपको इसरो से जुड़ी कई जानकारी दी जैसे इसरो क्या है, इसरो का फुल फॉर्म, इसरो कि स्थापना कैसे हुई इत्यादि| आपको यह जानकारी कैसी लगी यह हमें comment में ज़रूर बताएं और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें|

यह भी पढ़े :

Wi-Fi Full Form in Hindi

TRP Full Form in Hindi

GOOGLE Full Form in Hindi

BMW Full Form in Hindi

ITI Full Form in Hindi

Leave a Comment