Mouse kya hai और इसके प्रकार | Mouse Full Form

Rate this post

Mouse kya hai ? दोस्तों, आज के इस article में मै आपको mouse kya hai, mouse full form और mouse के प्रकार के बारे में बताने वाला हूँ | तो इन सभी के बारे में जानने के लिए ये article को पूरा पढ़े |

आज के दौर में हम सभी लोग technology से जुड़े हुए है | हम किसी काम को करने के लिए ज़्यादातर digital devices का इस्तेमाल करते है और इसमें सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण computer होता है | आज computer की ज़रूरत बहुत ज्यादा हो गयी है |

Computer को चलाने के लिए बहुत से peripheral devices जैसे keyboard, monitor, CPU आदि की ज़रूरत पड़ती है तब जाकर हम computer का इस्तेमाल कर पाते है | इसी devices की तरह एक और भी device होता है जिसे हम mouse कहते है | यह computer को operate करने के लिए बहुत ही ज़रूरी होता है इसके बिना computer को चलाना नामुमकिन सा होता है |

जिस तरह हम अपने वास्तविक जीवन में किसी सामान को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए अपने हाथ का इस्तेमाल करते है ठीक उसी तरह computer के screen पर हो रहे कार्यो को control करने के लिए हमें mouse की ज़रूरत पड़ती है |

तो चलिए दोस्तों बिना देरी किये जानते है कि mouse kya hai इसके प्रकार और यह क्या कार्य करता है |

Mouse kya hai – What is Mouse in Hindi

Mouse एक input device है | यह एक छोटा hardware होता है जिसका इस्तेमाल हाथ से किया जाता है | यह computer screen पर हो रहे cursor के movement को control करता है और यूजर को कंप्यूटर पर folders, text, files और icons को move करने और चुनने की अनुमति देता है |

यह एक वस्तु है जिसे चलाने के लिए hard-flat surface पर रखने ककी ज़रूरत पड़ती है | जब यूजर mouse को move करते है तो screen पर cursor उसी दिशा में move करते है जिस दिशा में mouse move करता है |

इसका नाम mouse इसके अपने आकार से लिया गया है क्यूंकि छोटा और अंडाकार के तरह होता है जो थोडा चूंहे की तरह दिखता है | Mouse को computer field का सबसे महत्वपूर्ण अविष्कार माना जाता है क्यूंकि यह keyboard के कार्य को कम करने में मदद करता है और user के कार्य को आसान बनाता है |

Monitor क्या है और इसके प्रकार – Monitor Full Form

Software क्या है और इसे कैसे बनाये जाते है 

Mouse का फुल फॉर्म – Mouse Full Form

Mouse का फुल फॉर्म Manually Operated Utility For Selecting Equipment होता है |

  • M : Manually
  • O : Operated
  • U : Utility
  • F : For
  • S : Selecting
  • E : Equipment

Mouse का अविष्कार किसने किया है

साल 1960 में Douglas Engelbart ने अपने assistant Bill English के साथ मिलकर mouse का अविष्कार किया था |

Mouse को मूल रूप से “Display system के लिए X-Y position indicator” के रूप में जाना जाता था और पहली बार 1973 में Xerox Alto computer system के साथ उपयोग किया गया था |

पहला  mouse लकड़ी से बना था और आज के mouse से आकार में काफी बड़ा था और दाएँ कोने में केवल एक छोटा सा बटन था |

Mouse क्या कार्य करता है

एक माउस कंप्यूटर पर विभिन्न कार्यो को करने के लिए सक्षम होता है , जिसके बारे में नीचे बताया गया है |

1. Move the mouse pointer : Mouse का मुख्य कार्य cursor को screen पर move करना होता है |

2. Select : एक mouse यूजर को text, file, folder और कई folders को एक साथ select करने की अनुमति देता है | उदहारण के लिए, यदि आप किसी को multifile भेजना चाहते है तो आप एक साथ कई files को select करके भेज सकते है |

3. Open or execute a file : आप mouse के द्वारा किसी भी folder और icons को open और execute कर सकते है | आपको बस उस folder या icon पर जाकर double-click करना होता है जिसे आप open या execute करना चाहते है |

4. Drag-and-drop : जब आप कोई file या folder को select करते है तो उसे drag-and-drop method का इस्तेमाल करके एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है |

5. Hovering : जब आप किसी object पर mouse cursor को लेकर जाते हो तो उस link का color बदल जाता है और उस link पर click करके आप दुसरे पेज पर जा सकते हो |

6. Scroll Up & Down : यदि आप एक लंबे webpage को देख रहे है या एक बड़े documents के साथ काम कर रहे है तो आपको उस page को ऊपर नीचे करने की ज़रूरत पड़ती है | Mouse का scroll button आपको पेज को ऊपर नीचे करने में मदद करता है |

7. Play Game : एक mouse यूजर को chess game जैसे विभिन्न गेम खेलने में मदद करता है जिसमें किसी भी विशेष object को select करने के लिए mouse का उपयोग किया जाता है |

एक Mouse के parts

Mouse के साथ आसानी से का करने के लिए mouse के विभिन्न हिस्से होते है | माउस के विभिन्न हिस्सों को उनके कार्यों के साथ नीचे बताया गया है |

1. Button : आजकल, लगभग हर माउस में दो बटन होते है दाएँ और बाएँ | इन बटन का उपयोग किसी भी object या text को click या manipulate करने के लिए किया जाता है | पुराने समय में, माउस में केवल एक बटन होते थे | जब कोई यूजर माउस के बटन पर click करता है तो यह screen पर activity को perform करने के लिए कंप्यूटर के साथ communicate करता है |

2. Circuit board : Circuit board माउस के अंदर स्थित होता है जिसका उपयोग सभी mouse signal information, click और other information को transmit करने के लिए किया जाता है | इस board में diode, register, capacitor आदि जैसे सभी electronic components मौजूद होते है | यह electronic signals के रूप में input लेता है |

3. Wheel : आजकल, माउस में एक wheel भी होता है जिसका उपयोग documents page को ऊपर और नीचे करने के लिए scroll किया जाता है |

4. Cable/Wireless receiver : corded माउस में एक प्लग के साथ एक केबल होता है जो कंप्यूटर से जुड़ता है। यदि माउस wireless है, तो इसे wireless signal प्राप्त करने के लिए एक USB receiver की आवश्यकता होती है, जैसे Bluetooth, Infrared, Radio signal .

Wi-Fi Full Form – Wi-Fi का full form क्या होता है 

Software Engineer कैसे बने  – सॉफ्टवेर इंजीनियर जानकारी 

Mouse के प्रकार – Types of Mouse

कंप्यूटर के साथ उपयोग किये जाने वाले विभिन्न प्रकार के माउस है | आज के समय में desktop computer के लिए सबसे ज्यादा optical mouse का उपयोग किया जाता है जो USB port से जुड़ता है जिसे USB mouse भी कहा जाता है | Laptop के लिए mouse का सबसे लोकप्रिय प्रकार touchpad होता है | नीचे computer के साथ इस्तेमाल किये जाने वाले सभी प्रकार के mouse और pointing device के बारे में बताया गया है |

  1. Optical
  2. Joystick
  3. Foot mouse
  4. J-Mouse
  5. Trackball
  6. TrackPoint
  7. Touchpad (Glidepoint)
  8. Cordless (Wireless)

1. Optical

यह एक advanced कंप्यूटर माउस है जो पहली बार 19 April 1999 को Microsoft द्वारा पेश किया गया था | यह laser या light-emitting diode(LEDs) का उपयोग करके movement को track करता है |

2. Joystick

Joystick का अविष्कार साल 1926 में C.B. Mirick ने US Naval Research Laboratory में किया था | यह मूल रूप से remotely piloted aircraft के लिए design किया गया था और two-axis electronic joystick था जो अभी उपयोग किये जा रहे joystick की तरह था |

Joystick इस्तेमाल एक mouse के तरह ही किया जाता है लेकिन जब आप mouse को move करना बन कर देते है तो screen पर cursor रूक जाता है लेकिन joystick में ऐसा नहीं है इसमें cursor लगातार move करता रहता है जिस दिशा में joystick रहता है | आपको इसे रोकने के लिए वापस joystick को अपने वापस position पर लाना होता है |

3. Foot mouse

यह एक प्रकार का computer mouse है जो user को अपने पैरों के साथ mouse pointer या cursor को control करने की क्षमता प्रदान करता है | इस mouse को विकसित करने का कारण यह है कि user को mouse का इस्तेमाल करते समय keyboard का भी इस्तेमाल कर सके और उन्हें अपने हाथ mouse से हटाने की ज़रूरत न पड़े |

4. J-Mouse

यह एक प्रकार का mouse है जिसका उपयोग पुराने portable computer devices के साथ किया जाता था |यह कार्यों को operate करने के लिए keyboard के J-key का उपयोग करता है इसलिए इसे J-Mouse के नाम से जाना जाता है | इसमें आमतौर spacebar के नीचे दो left और right click बटन होते है | इसका उपयोग अब नहीं किया जाता है क्यूंकि इस mouse का उपयोग करना बहुत मुश्किल था |

5. Trackball

यह एक hardware input device है जो एक function को mouse के रूप में कार्य करता है | इस mouse के उपर एक movable ball होता है जो user को किसी भी दिशा में cursor को move करने की अनुमति देता है | Trackball मुख्य रूप से computer के साथ इस्तेमाल किये जाते है लेकिन इसे अन्य electronics में भी पा सकते है | जैसे self-serve kiosks, mixing board और arcade games आदि | इन उपकरणों में आमतौर पर ट्रैकबॉल शामिल होते है |

6. TrackPoint

यह एक cursor control device है जिसे style pointer, pointing stick या nub के नाम से भी जाना जाता है | 1992 में IBM ने portable computer के साथ उपयोग करने के लिए trackpoint को पेश किया था | कभी-कभी इसे एक eraser pointer भी कहा जाता है क्यूंकि यह पेंसिल के eraser head की तरह दिखता है | यह keyboard के बीच में G, H और B के बीच स्थित रहता है |

7. Touchpad

यह एक flat-control surface की तरह होता है जिसे glide point, glide pad, trackpad या pressure-sensitive tablet भी कहा जाता है | इसका उपयोग cursor को उंगलियों का उपयोग करके move करने के लिए किया जाता है | इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से लैपटॉप में किया जाता है |

8. Cordless Mouse

इस mouse को कंप्यूटर के साथ connect करने के लिए किसी प्रकार के तार की ज़रूरत नहीं पड़ती है | इस प्रकार के mouse को कंप्यूटर के साथ connect करने के लिए cord होते है | समय के साथ, 2000 के दशक के शुरुआत में wireless technology लोकप्रिय हो गई और wireless mouse ने bluetooth, infrared radio waves और radio frequency technology को शामिल किया | आम तौर पर, USB reciever का उपयोग wireless mouse को कंप्यूटर के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है जो कंप्यूटर में plug होता है और wireless mouse से signal प्राप्त करता है |

Conclusion :

आज आपने mouse kya hai, mouse full form, mouse के प्रकार आदि के बारे में सिखा अगर आपको mouse kya hai इस article से कोई सवाल है या इसके लिए कोई सुझाव है तो आप हमें comment में ज़रूर बताये | और अगर आपको या post पसंद आया हो तो आप facebook, instagram जैसे social media platform पर ज़रूर share करें |

 

Leave a Comment