NASA Full Form in Hindi | नासा का फुल फॉर्म और इसका इतिहास

Rate this post

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में मैं आपको NASA से जुड़ी सारी जानकारी देने वाला हूँ जैसे कि NASA Full Form in Hindi, NASA क्या है, इसकी स्थापना कब और कैसे हुई थी, यह किस देश के अंतर्गत आता है और NASA का मालिक कौन है इत्यादि| अगर आप इन सभी सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े| मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको नासा के बारे में पूरी जानकारी हो जायेगी|

NASA Full Form in Hindi : नासा का फुल फॉर्म

NASA का फुल फॉर्म National Aeronautics and Space Administration होता है जिसका हिंदी अर्थ राष्ट्रीय वैमानिकी और अंतरिक्ष प्रशासन होता है|

  • N : National
  • A : Aeronautics
  • S : Space
  • A : Administration

NASA क्या है : What is NASA in Hindi

NASA का मतलब नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन है| यह अमेरिका की एक सरकारी एजेंसी है जो नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम के साथ-साथ aeronautics, scientific discovery, earth और aerospace research के लिए काम करती है| यह दुनिया की सबसे बड़ी रिसर्च एजेंसी है जो satellite के माध्यम से अंतरीक्ष में हो रही गतिविधियों का पता लगाती है और उन पर रिसर्च करती है|

NASA की स्थापना और इसका इतिहास

NASA की स्थापना 29 जुलाई 1958 को राष्ट्रपति Dwight D. Eisenhower द्वारा किया गया था| नासा ने 1958 में एक व्यवसाय के रूप में शुरुआत की थी| नासा का लक्ष्य तब से अंतरिक्ष अन्वेषण (space exploration), वैमानिकी अनुसंधान (aeronautics research) और वैज्ञानिक खोज (scientific discovery) में रिसर्च लगाना है| नासा स्थायी विज्ञान और मानव आत्मा की उन्नति को आगे बढ़ाने के बारे में है|

नासा की पहुँच वहां तक है जहाँ एक आम इंसान पहुँचने की कभी सोच भी नहीं सकता है| इन असम्भाव कार्य की शुरुआत होती है पहली अंतरीक्ष यान Pioneer से जिसे सन 1973 में लांच किया गया था और यह सौरमंडल में  Jupiter (बृहस्पति) और Saturn (शनि) की यात्रा करने वाला पहला यान था| जिसने सौरमंडल प्रणाली के Venus (शुक्र), Mars (मंगल) और Jupiter (बृहस्पति) के बीच परिकर्मा करने वाले चट्टानों की जांच की और इसकी आशचर्यजनक तस्वीरे ली|

इसके बाद सन 2001 में नासा ने WMAP लांच किया| इसने big bang के रहस्यों का पता लगाया और यह बताया कि ब्रम्हांड की उम्र 13.7 billion वर्ष है और ब्रम्हांड का 95% हिस्सा dark matter यानी dark energy जैसे खराब चीजों से बने हैं|

Jupiter और Saturn के जांच के लिए नासा ने voyager 1 और voyager 2 लांच किया जिससे Saturn के चारो ओर के छल्ले और Jupiter की और भी करीबी जानकारी मिली और उसने वहीँ से ही Uranus के लिए उड़ान भरी और उसने दुनिया को बताया कि Uranus पर 10 चंद्रमा मौजूद है| यह अब तक की सब से महत्वपूर्ण जानकारी थी जो नासा ने लोगी को बताया|

दुनिया की सबसे पोपुलर अंतरीक्ष यानों में Hubble का नाम सबसे ऊपर आता है जिसने अपने तस्वीरों से ब्रम्हांड को और जानने पर मजबूर कर दिया| इसने space calculation को और भी आसान बना दिया|

इसके बाद शुरू होती है space की दुनिया में नया आयाम लिखने की| नासा ने 30 जुलाई 2020 को Mars Rover लांच किया और 90 दिनों के इस मिशन में नासा को विज्ञान के दुनिया में बहुत आगे ले गई| इस मिशन ने जानकारी दी कि कभी Mars (मंगल) पर पानी हुआ करता था|

और अब बात करते हैं नासा के सबसे बेहतरीन अंतरीक्ष मिशन का जिसपर नासा गर्व करता है इस मिशन का श्रेय मशीन को नहीं बल्कि मनुष्य को जाता है| जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहें हैं Apollo Mission का, यह चंद्रमा के बारे में विज्ञानिक समझ को और विस्तार दे दिया| इससे हमें यह जानने को मिली कि चंद्रमा कितना पुराना है, इसका भार कितना है, यह किन तत्वों का बना है और यह सब कब और कैसे शुरू हुआ| Apollo के इस मिशन में ही Neil Armstrong ने चंद्रमा पर अपना पहला कदम रखा था|

NASA के नवीनतम मिशन

नासा ने 2021 में चंद्रमा के लिए कई अंतरिक्ष उड़ानों की योजना बनाई है| 2025 तक, नासा ने चंद्र दक्षिणी ध्रुव (Lunar South Pole) पर अंतरिक्ष यात्रियों को उतारने की योजना बनाई है| नासा ने ‘Lost habitability’ का अध्ययन करने के लिए दो मिशनों का भी चयन किया है जो Venus (शुक्र) के लिए एक मिशन है|

NASA से जुड़ी कुछ रोचक बातें

  • NASA की स्थापना अमेरिका के राष्ट्रपति Dwight D. Eisenhower ने 29 जुलाई 1958 को किया था|
  • चाँद पर जाने वाला सबसे पहला यान Apollo नासा द्वारा ही बनाया गया था|
  • नासा पर हर साल लगभग 19 अरब डॉलर खर्च होता है|
  • एक जानकारी के मुताबिक़ नासा में काम करने वाले 36% इंजिनियर भारतीय हैं|
  • नासा ने पृथ्वी के तरह ही एक गृह ख़ोज निकाला है जिस पर बहुत अधिक मात्रा में पानी मौजूद है और वह गृह पृथ्वी से 40 lights year दूर है| इस गृह को water world के नाम से भी जाना जाता है|
  • अगर आप नासा के अंतरीक्ष यात्री बनना चाहते हैं तो पहले आपको पृथ्वी की सतह से ऊपर कम से कम 50 मील की दूरी तय करनी होगी|
  • नासा की vehicle assembly building इतनी बड़ी है कि उम्मस भरे दिनों में उसके ऊपर बारिश वाले बदलो को बन्ने से रोकने के लिए 10 हज़ार टन हवा साफ़ करने वाले उपकरणों की ज़रुरत पड़ती है| नासा की vehicle assembly building का अपना खुद का मौसम है यदि यह हवा साफ़ करने वाले तरीके का इस्तेमाल ना करे फ्लोरिडा के छवी वाला मौसम इसके छत के करीब ही बारिश वाला मौसम बना देगा|

निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल NASA Full Form in Hindi में मैंने आपको बताया कि नासा क्या है, NASA Ka Full Form क्या होता है, इसकी स्थापना कब और कैसे हुई इत्यादि| अगर आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप हमें comment में पूछ सकते है| आपको यह आर्टिकल कैसा लगा यह हमें कमेंट में ज़रूर बताएं और अगर अआप्को यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इस आर्टिकल को ज़रूर शेयर करें|

यह भी पढ़े :

ISRO Full Form in Hindi

TRP Full Form in Hindi

Wi-Fi Full Form in Hindi

Google Full Form in Hindi

BMW Full Form in Hindi

Leave a Comment