क्वांटम कंप्यूटर क्या है और यह कैसे काम करता है

4.7/5 - (3 votes)

क्वांटम कंप्यूटर क्या है? जैसा कि आप सभी जानते हैं कि टेक्नोलॉजी की दुनिया में तेज़ी से विकास हो रहा है और आज इंसानों की जगह मशीने लेनी लगी है| एक समय ऐसा भी आया था जब कंप्यूटर के विकास ने तकनीकी क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव किया था| अब artificial intelligence ने चिकित्सा से लेकर हथियार तक सभी के क्षेत्र में कंप्यूटर और रोबोट के इस्तेमाल को एक नया रूप दे दिया है|

आज कोई भी क्षेत्र हो चाहे वो शिक्षा का क्षेत्र हो या भीर स्पेस साइंस हो सभी जगह पर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है| जब से कंप्यूटर बना है तब से उसका आकार छोटा होता जा रहा है लेकिन उसके कार्य करने की क्षमता बढ़ती जा रही है| आपने यह तो देखा होगा आपके मोबाइल की चिप जो कुछ साल पहले 1GB की होती थी आज वही चिप उतने ही आकार में 1TB की मिल रही है| इससे आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि टेक्नोलॉजी कितने तेज़ी से आगे बढ़ रही है|

कंप्यूटर में लगातार प्रगति देखने को मिल रही है इस प्रगति के समान एक और प्रगति देखने को मिल रही है जिसका नाम है Quantum Computer, क्वांटम कंप्यूटर ट्रेडिशनल कंप्यूटर से बिल्कुल अलग होते हैं और experts के अनुसार एक विकसित क्वांटम कंप्यूटर की क्षमता सुपर कंप्यूटर से भी अधिक होती है| ऐसा माना जा रहा है कि क्वांटम कंप्यूटर भविष्य का कंप्यूटर है और यह हमारे घरो और बाकी जगह राज़ करने वाला है|

ऐसे में आपको यह जानना ज़रूरी है कि क्वांटम कंप्यूटर क्या है और यह आज के कंप्यूटर से अलग कैसे हो सकता है| इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको क्वांटम कंप्यूटर के बारे में जानकारी देनें वाले है अगर आप भी यह जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े| तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानतें हैं कि क्वांटम कंप्यूटर किसे कहते हैं?

क्वांटम कंप्यूटर क्या है : What is Quantum Computer in Hindi

क्वांटम कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो क्वांटम फिजिक्स के आधारों और नियामों का इस्तेमाल करके डेटा को स्टोर करता है और कम्प्यूटेशन perform करता है| क्वांटम कंप्यूटर बहुत ही कठिन कामों को बहुत ही आसानी से कुछ ही मिनटों में पूरा कर सकता है जिसे आज के कंप्यूटर में इसे करने के बारे में हम सोच भी नहीं सकते हैं| क्वांटम कंप्यूटर भविष्य का कंप्यूटर है यह आज के कंप्यूटर से बिल्कुल अलग और शक्तिशाली होते हैं|

मौजूदा कंप्यूटर प्रोग्राम को रन करने या किसी भी कैलकुलेशन के लिए binary digit यानी BITS का इस्तेमाल करते हैं जिससे डेटा को 0 और 1 के फॉर्म में रखा जाता है| हमारे कंप्यूटर में जितने भी इनफार्मेशन स्टोर होती है वो सभी इन्ही फॉर्म में होते है क्यूंकि हमारा कंप्यूटर सिर्फ यही digits को समझता है और उसी हिसाब से कार्य को पूरा करता है| कंप्यूटर के सर्किट में transistors लगे होते हैं जो इन bits को पहचान लेते हैं और इसे electrical signal में बदलकर डेटा को सभी पार्ट्स में भेज देते हैं|

क्वांटम कंप्यूटर में binary digits के जगह पर quantum digits का इस्तेमाल किया जाता है जिसे QUBITS भी कहा जाता है| आम तौर पर जो कंप्यूटर होते हैं उसमें इस्तेमाल होने वाली bit की एक बार में सिर्फ दो ही value हो सकती है या तो एक bit की value 1 होगी या फिर 0 होगी| लेकिन Qubit की value एक ही बार में 4 value रह सकती है यही खूबी क्वांटम कंप्यूटर को ख़ास बनाती है साथ ही इसकी स्पीड और क्षमता भी दुसरे कंप्यूटर के मोकबले ज़्यादा होते हैं| क्वांटम कंप्यूटर आम कंप्यूटर के मुकाबले complex calculation को बड़े ही आसानी और तेज़ी से कर सकता है|

क्वांटम कंप्यूटर काम कैसे करता है : How does Quantum Computer work

Quantum Computer कंप्यूटर चिप की स्थान पर परमाणुओं items का प्रयोग कैलकुलेशन के लिए करते हैं| क्वांटम कंप्यूटर का ख्याल वैज्ञानिकों के दिमाग उस वक़्त आया जब उन्होंने समझा कि परमाणु प्राकृतिक रूप से complex calculator है| साइंस के अनुसार कई भी items प्राकृतिक रूप से खुमता रहता है| जिस तरह से किसी magnetic compass में एक सुई खुमती रहती है ठीक उसी तरह ये item जो  स्पिन होता है वो या तो उपर की तरफ होती है या तो नीचे की तरफ होती है| ये digital तकनीक के साथ खूब मेल खाता है जो प्रत्येक डेटा को 0 या 1 की श्रेणी में प्रस्तुत करता है|

किसी डेटा का उपर जाने वाला स्पिन 1 हो सकता है और नीचे जाने वाला स्पिन 0 हो सकता है| लेकिन item के स्पिन का मापन किया जाये तो यह एक ही समय में उपर और नीचे दोनों हो सकता है| इसी वजह से यह साधारण कंप्यूटर के bit के तरह नहीं होता यह कुछ अलग है| जिसे वैज्ञानिकों ने QUBITS का नाम दिया है जो एक ही समय में 0 और 1 दोनों value होल्ड करके रख सकता है|

क्वांटम कंप्यूटर में क्वांटम कंप्यूटिंग का इस्तेमाल किया जाता है जो क्वांटम फिजिक्स पर आधारित होता है| क्वांटम कंप्यूटर में जिस Qubit का इस्तेमाल किया जाता है उसमें इतने मात्रा में उर्जा भरी होती है कि इसे कुशल बनाने के लिए ज़्यादातर QUBITS को शुन्य के तापमान पर ठंडा करके रखा जाता है जो कि अंतरीक्ष के तापमान से भी ठंडा हो जाता है| अगर इन QUBITS का तापमान शुन्य के तापमान से ठंडा नहीं हुआ तो यह का करने की स्थिति में नहीं होते हैं| इसीलिए क्वांटम कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग करना थोड़ा अलग तरीके से होता है जिसे करना काफी मुश्किल होता है|

क्वांटम कंप्यूटर का भविष्य क्या है : Future of Quantum Computer in Hindi

आज के 21वीं सदी में क्वांटम कंप्यूटर को लेकर लोगों की कई सारी उम्मीदें है| जबसे कंप्यूटर अस्तित्व में आया है लगातार शक्तिशाली ही बनता जा रहा है| इसी लिए किसी को तेज़ी से काम करने वाला कंप्यूटर चाहिए तो किसी को शक्तिशाली कंप्यूटर चाहिए| हलांकि इस बात का अंदाजा लगाना मुश्किल है कि क्वांटम कंप्यूटर कब तक बन कर तैयार हो जायेगा क्यूंकि क्वांटम कंप्यूटर को बनाना इतना आसान नहीं है| इसके लिए ऐसे advance tools और जटिल algorithm की आवश्यकता है जो फिलहाल हमारे पास नहीं है|

एक बार क्वांटम कंप्यूटर बन गया तो यह किसी भी task या application को चंद सेकंड में खोल कर अपना काम करके हमें output दे देगा| लेकिन इसके algorithm को बनाना आसान नहीं है एक तो इसे बनाने में कड़ी मेहनत लगती है और साथ ही इसे बनाने में काफी समय भी लगता है| इसलिए क्वांटम कंप्यूटर को बनने में कितना समय लगने वाला है ये बताना थोड़ा मुश्किल है| क्वांटम कंप्यूटिंग के ऊपर बहुत से वैज्ञानिक श्रोत कर रहे हैं जिससे इसे बनाने में काफी मदद मिल सकती है|

क्वांटम कंप्यूटर की क्षमता को देखते हुए सुरक्षा की नज़र से इसे मजबूत माना जा रहा है यही वजह है कि इसकी संभावना पहचान चुकी कंपनियां इस पर अपना पैसा लगा रही है| Google, Intel, IBM, Microprocessor जैसी बड़ी बड़ी कंपनियां क्वांटम कंप्यूटर की दिशा में अपना कदम बढ़ा रहे हैं| भारत सरकार भी इस दिशा में बढ़ावा देने के लिए Quantum Information Science and Technology का गठन किया है|

क्वांटम कंप्यूटिंग का क्षेत्र जितना अहम है उसकी तुलना में इस क्षेत्र में कुशल लोगों की संख्या बहुत कम है| एक अनुमान के मुताबिक़ पूरी दुनिया में 1000 से भी कम लोग है जो क्वांटम कंप्यूटिंग में श्रोत कर रहे हैं| Experts का मानना है कि क्वांटम कंप्यूटर तकनिकी के ज़रिये Healthcare, Communication, Artificial Intelligence, Defence, Science, Agriculture जैसी क्षेत्रो में बदलाव रखने की काबिलियत रखता है|

निष्कर्ष :

तो दोस्तों आशा है कि आपको इस आर्टिकल से Quantum Computer Kya Hai, यह कैसे काम करता है उअर भविष्य में इसका उपयोग कैसे कैसे किया जायेगा इससे जुड़ी साड़ी जानकारी आपको मिल गई होगी| मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि हमारे आर्टिकल के ज़रिये आपको दी गई विषयों पर पूरी जानकारी प्राप्त हो सके ताकि आपको कहीं और जाने की ज़रुरत नहीं हो|

अगर आपको क्वांटम कंप्यूटर क्या है? इस आर्टिकल से related कोई भी सवाल हो तो आप नीचे कमेंट में लिखकर ज़रूर बताएं ताकि हम आपकी परेशानी को जल्द से जल्द दूर करें और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें|

यह भी पढ़े :

NASA Full Form in Hindi

ISRO Full Form in Hindi

Starlink क्या है?

Leave a Comment