Software kya hai और इसे कैसे बनाये जाते है ?

Rate this post

Software kya hai? आज technology की इस दुनिया में सभी लोग software से प्रचलित है अगर आप mobile या computer इस्तेमाल करते है तो आपको software के बारे में ज़रूर पता होगा | लेकिन अगर आपसे यह पूछा जाए की software kya hai? तो क्या आप इसका उत्तर दे पायेंगे |

अधिकतर लोग software के बारे में जानते तो है लेकिन software kya hai यह बता नहीं पाते | इसलिए आज के इस article में हम आपको software के बारे में पूरी जानकारी देंगे | आज इस article को पढ़ने के बाद आप किसी को भी software के बारे में बहुत अच्छे से बता पायेंगे |

आज की दुनिया में सभी लोग technology से जुड़े हुए है चाहे वो mobile, computer, tab या अन्य technical devices हो | लेकिन आपने कभी ये जानने की कोशिश की है कि ये सभी devices काम कैसे करते है | ये सभी devices software से चलती है अगर इन devices में software न हो तो इन में से कोई भी devices काम की नहीं होगी|

अगर आपको mobile में गाना सुनना हो या फिर गेम खेलना हो इन सभी के लिए हम software का इस्तेमाल करते है | आपके mobile के screen पर जितने भी icons आपको दिखाई देते है वो सभी एक प्रकार का software है |

Software kya hai – What is Software in Hindi

Software बहुत सारे programs के set को कहा जाता है जो computer को एक ख़ास काम करने का निर्देशक देता है | यह user को computer पर काम करने का छमता पर्दान करता है|

Software को आप न ही अपने आँखों से देख सकते है और न ही हांथो से टच कर सकते है| इसका कोई physical अस्तित्व नहीं होता |

Computer के अलग-अलग काम के लिए अलग-अलग software  होता है जो उन काम को पूरा करता है| Ms-Office, browser, Photoshop, Adobe Reader, Paint  आदि ये सब विभिन्न प्रकार के software है जिसकी सहायता से आप computer से अलग-अलग काम करवा सकते है| इससे आपको पता हो गया होगा software का कितना महत्व है|

Also Read :- Computer kya hai और इसके प्रकार होते है 

Program क्या है – What is Program in Hindi

Program instructions का एक समूह होता है जो computer को समझ में आता है | Program को लिखने के लिए आपको programming languages की समझ होनी चाहिए |

Tom Kilburn ने  electronic memory में पकड़ बनाने के लिए पहला software program लिखा था| इसे 21 जून 1948 को England के Manchester University में सफलतापूर्वक execute किया गया था |

Programming Language क्या है – What is Programming Language in Hindi

आप यह तो जानते होंगे की किसी व्यक्ति के साथ बातचीत करने के लिए हमें एक भाषा की जरुरत पड़ती है उसी तरह computer और programmer के बीच communicate करने के लिए programming language की जरुरत पड़ती है |

Programming language एक computer language है जो computer और programmer के communicate के लिए इस्तेमाल किया जाता है | यह किसी विशेष कार्य को करने के लिए किसी भी विशेष भाषा जैसे:- C, C++, Java, Python आदि में लिखे गए निर्देशों का एक समूह होता है |

Software कितने प्रकार के होते है – Types of Software in Hindi

Software को उसके अलग-अलग काम के आधार कई भागो में  विभाजित किया गया है जिसके बारे में निचे बताया गया है |

  1. System Software
  2. Application Software
  3. Programming Software
  4. Driver Software

1. System Software

System software एक ऐसा software होता है जो यूजर और हार्डवेयर को एक दुसरे के साथ काम करने के लिए सहायता करता है| मूल रूप से, यह computer hardware के व्यवहार को manage करने के लिए एक software है |

आसन शब्दों में यह भी कह सकते है की system software user और hardware के मध्यस्थ या एक मध्य परत है| यह computer software और अन्य software के काम करने के लिए एक platform या वातावरण को मंजूरी देता है | यही कारण है की system software पुरे computer system management के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है |

जब आप पहली बार computer को on करते है तो system software आरम्भ हो जाता है और computer की memory में load हो जाता है |

System software का एक बहुत ही अच्छा उदहारण Operating system जैसे :- Android, Windows, IOS etc.

Also Read :- Android kya hai और इसकी शुरुआत कैसे हुई?

2. Application Software

यह computer software का सबसे आम प्रकार है यह एक विशेष कार्य करने के लिए programs का एक समूह है | यह computer के कार्य को control नहीं करता है क्यूंकि यह end-user के लिए बनाया गया है | एक computer बिना application software के भी चल सकता है | इसे आसानी से जरुरत के अनुसार install और uninstall किया जा सकता है |

आप अपने mobile या computer में Mx Player, Photoshop, WhatsApp, WordPad आदि जैसे software का इस्तेमाल करते है ये सब application software का एक उदहारण है |

3. Programming Software

Programming software tools का एक set या collection होता है जिसकी मदद से computer programmer या developer दुसरे software या programs लिखते है | यह उन्हें दुसरे software या program लिखने, develop करने, debug test करने में सहायता करता है | programming software की मदद से programming languages जैसे:- Java, Python, C++ आदि को translate करके machine language में बदलता है |

4. Driver Software

Driver Software को एक प्रकार का system software भी कहा जाता है | Driver software उन devices को संचालित एवं नियंत्रण करता है जो computer में plug किये जाते है | यानी जो devices computer में अलग से जोड़े जाते है |

Printer driver software का एक बहुत ही अच्छा उदाहरण है | जब आप पहली बार printer को अपने computer के साथ काम करने के लिए जोड़ते है तब आपको दोनों को जोड़ने के लिए software install पड़ता है ताकि वे आपकी जरुरत की किसी भी चीज़ को print कर सके |

Software कैसे बनाये जाते है – How to make Software in Hindi

किसी भी program को किसी भी language का इस्तेमाल करके लिखा जा सकता है जो किसी भी इंसान के समझ में आ जाती है जिसे programming language की जानकारी होती है | इसे source code कहा जाता है और compiling process की मदद से इसे  source code को बनाने के बाद executable file में बदल दिया जाता है |

कोई भी simple program एक developer द्वारा एक उचित समय में लिखा जा सकता है | हालंकि professional software में बहुत सारे developers शामिल हो सकते है | एक बड़े software को सेकड़ो या हजारो files में विभाजित किया जाता है |

Software developer अपने software पर कड़ी मेहनत करते है लेकिन source code के साथ कुछ समस्याएं होती है और हम इन समस्यओं को bugs कहते है | software का एक हिस्सा public के लिए जारी किये जाने के बाद भी software developers को software के bugs को ठीक करना जारी होता है और software को और भी बेहतर बनाना होता है | यही कारण है कि software में समय समय पर update और नए features आते रहते है |

Software बनाने के लिए क्या-क्या ज़रूरी है ?

तो चलिए दोस्तों अब हम जानेंगे कि हम एक software कैसे बना सकते है और इसे बनाने के लिए क्या-क्या ज़रूरी होता है |

1. Find Your Interest

Software development के दो basic type होते है System development और Application development आपको पहले यह तय करना होगा की आपको किस प्रकार का software बनाना है या आपका interest किस तरह के software development में है |

2. Learn a Programming Language

कुछ नया करने के लिए तो कुछ नया बनाने के ideas तो किसी के भी दिमाग में आ सकते है लेकिन उन ideas को एक developer ही मूल रूप दे पाता है | यहाँ तक की आप सिर्फ software के design पर काम करना चाहते है तो भी आपको coding की जानकारी होनी चाहिए | market में बहुत सारे programming language मौजूद है जिसमे से कुछ important है C, C++, Java, Python, Html etc.

3. Find Resources 

जयादातर book stores में एक पूरा sections programming की books से भरी होती है इसके अलावा आपको ecommerce websites पर भी programming की बहुत सारी किताब मिल जायेगी | आपके पास अच्छी तरह से लिखी हुई programming books होनी चाहिए ताकि software बनाते समय आप उनकी मदद ले सके और coding सीख सकें | किताबो के अलावा आपको internet पर बहुत सारे platform मिल जायेंगे जहाँ से आप coding सिख सकते है जैसे Udemy, Code Academy, Code.org, Bento etc.

4. Work on Pet Project

आप अपने नई programming skill को असली दुनिया में नौकरी पाने के लिए या फिर software बनाकर launch करने के लिए इस्तेमाल करें इससे पहले आप अपने लिए कुछ project पर काम करें अपने programming language का इस्तेमाल करके problem को solve करें | इससे आपकी programming skill अच्छी होगी |

5. Consider

एक अच्छा developer एक ऐसा software बनाएगा जो user को इस्तेमाल करने में easy और interesting हो | आप अपने बनाये गए software को अच्छी तरह से देखे की क्या मै इसे और भी बेहतर बना सकता हूँ जिसे इस्तेमाल करने में user को और भी आसानी हो |

Software बनाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

अब हम जानेंगे कि software बनाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए |

1. Quality और Reliability

जब भी आप एक नया software बनाये तो आप software के quality पर विशेष ध्यान दे ख़ास तौर पर application और system software के लिए | यदि software defective है तो यह किसी user के काम को delete कर सकता है, computer को crash कर सकता है |

2. License

software का license user को software को इस्तेमाल करने का अधिकार देता है और free license के मामले में दूसरे अधिकारों जैसे copy बनाए का अधिकार भी देता है |

Conclusion :

दोस्तों, आज के इस article में हमने आपको software kya hai, software कितने प्रकार के होते है, software कैसे बनाये जाते है आदि के बारे में बताया | हमें उम्मीद है software kya hai आपको पूरी तरह से समझ में आ गया होगा | अगर फिर भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें comment में ज़रूर पूछे |

एक बात और दोस्तों अगर आपको यह article पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर share करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में जानकारी हो सके |

Leave a Comment