Tata Company ka malik कौन है | Tata के CEO कौन है

Rate this post

Tata company ka malik कौन है? Tata कम्पनी को आज कौन नहीं जानता है ये भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है | अगर आप टाटा कम्पनी के बारे में जानना चाहते है कि tata company क्या है, tata company ka malik कौन है, इसकी शुरुआत कैसे हुई और इसके CEO कौन है तो आपको यह article ज़रूर पढ़ना चाहिए | क्यूंकि आज मै आपको इन सभी के बारे में विस्तार से बताने वाला हूँ |

टाटा कम्पनी भारत की सबसे पुरानी कम्पनी में से एक है | शायद ही कोई होगा जिसने इसके बारे में नहीं सुना होगा या फिर इसका product इस्तेमाल नहीं करता होगा | आज सभी कोई इसके product को इस्तेमाल करता है | टाटा भारत के अलावा 100 से भी ज्यादा देशो में अपना बिजनेस चलाता है | इससे आपको यह तो पता चल ही गया होगा कि टाटा कितनी बड़ी कम्पनी है अब हम जानते है कि टाटा क्या है और tata company ka malik कौन हैं |

Tata Company क्या है

Tata कम्पनी एक multinational company है | यह 100 से भी ज्यादा देशों में अपना बुज़िनेस चलती है और 160 से ज़यादा देशों में फैला हुआ है | इसका कार्यक्षेत्र अनेक बिजनेस संबंधित सेवाओं के क्षेत्र में फैला हुआ है | जैसे :- वाहन, उर्जा, सॉफ्टवेर, सूचना प्रौद्योगिकी, रसायनिक उद्योग, होटल, एयरलाइन्स, ऑटो मोबाइल, उपभोगता सामग्री इत्यादि | टाटा एक बहुत बड़ा साम्राज्य है इसका अंदाज़ा आप कुछ इस तरह लगा सकते है की अगर टाटा कम्पनी को बंद कर दिया जाए तो भारत की GDP में काफी गिरावट आ जाएगी |

Tata कम्पनी में 7,50,000 से भी ज्यादा कर्मचारी का करते है | और इस कम्पनी की market capitalization की बात करें तो 7.5 trillion indian rupees है | ये आंकड़े साल 2020 तक के है |

Tata company ka malik कौन है

ratan tata

वर्तमान में Tata कम्पनी के मालिक Ratan Tata है | और टाटा ग्रुप के नए chairman भी है | यह 50 साल से टाटा कम्पनी का कार्य बहुत अच्छी तरह से संभाले हुए है | रतन टाटा भारत के बहुत बड़े businessman है और दुसरे businessman इनकी बहुत इज्ज़त भी करते है | रतन टाटा एक नेक दिल इंसान है | वह अपने देश के लिए बहुत कुछ करते है चाहे वो आर्थिक समस्या ही क्यूँ न हो | कोरोना महामारी के दौरान उन्होंने 1500 करोड़ रूपये का दान दिया था | वह अपने महीने के 65% कमाई दान कर देते है |

Tata Group की शुरुआत कैसे हुई

टाटा ग्रुप की शुरुआत साल 1868 में Jamshedji Tata ने की थी | इनका जन्म 3 मार्च 1839 को गुजरात के एक पारसी परिवार में हुआ था
| उनके पिता एक छोटे से व्यापारी थे जिसका असर जमशेद जी टाटा पर देखने को मिला | क्यूंकि मात्र 14 साल की उम्र में वे अपने पिता के साथ बुज़िनेस को संभालना शुरू कर दिया था | फिर पढ़ाई पेरी करने के बाद वे पूरी तरह से पाने पिता के बिजनेस को संभालना शुरू कर दिया |

वह अपने बिजनेस को बड़ा करने के लिए सबसे पहले कई बड़े देशों के दौरे किये और समझा की उस समय के वर्तमान समय में किस चीज़ की मांग सबसे ज्यादा है और उसे कम कीमत पर भारतीयों को कैसे प्रदान करवाया जा सके | जमशेद जी को लगा कि textiles कारोबार पर अपने बुज़िनेस को बढ़ाया जा सकता है और लोगों को कम दाम पर product भी प्रदान कराया जा सकता है |

मात्र 29 साल की उम्र में जमशेद जी ने पुरानी बंद बड़ी oil mil को 21,000 रूपये में ख़रीदा और उसे एक cotton mil में बदल दिया जिसका नाम उन्होंने textile mil रखा | इसी cotton mil से टाटा ग्रुप की शुरुआत हुई थी |

जमशेद जी टाटा बहुत देश प्रेमी इंसान थे वे अपने देश और देशवासियों के लिए कुछ ऐसा करना चाहते थे जिससे आम लोगों की मुसीबते थोड़ी कम हो जाए इसके लिए उन्होंने चार लक्ष्य रखे एक था iron steel company बनाना, दूसरा था भारत में world class education institute बनाना, तीसरा था hydroelectric plant लगाना, और चौथा था भारतीयों के लिए 5 star hotel बनाना |

लेकिन वे अपने मृत्यु से पहले केवल एक ही सपने को पूरा कर पाए और वो था 5 star hotel बनाना | और वो होटल आज भारत के आलीशान होटल में से एक है और वो मुंबई का taj hotel है |

लेकिन उनके बेटे दोराबजी टाटा ने उनके सपने को पूरा किया | 1907 में दोराबजी टाटा ने भारत की सबसे बड़ी और asia की सबसे पहली steel कम्पनी का निर्माण किया | और 1909 में उन्होंने अपने पिता का एक और सपना पूरा किया जब उन्होंने Indian Institute of Science की स्थापना की | और 1911 में उन्होंने hydro plant की स्थापना करके अपने पिता के सभी सपने को पूरा कर दिया था |

इसके बाद टाटा कम्पनी ने और भी बहुत से कंपनिया की स्थापना की | 1912 में कर्मचारियों को 8 घंटे काम करने का rule भी सबसे पहले टाटा कम्पनी ने ही लाया था |

Tata कम्पनी की सफलता

अगर टाटा कम्पनी के होटल की बात करें तो 1912 के बाद अब तक टाटा कम्पनी के पास 99 से ज्यादा hotels, resorts है जिसमे 83 से ज्यादा hotels और resorts भारत में है | अब अगर बात करें Tisco यानी Tata Iron and Steel Company की तो tisco भारत की दूसरी सबसे बड़ी कम्पनी है जिसमे 76 हज़ार कर्मचारी काम करते है | 

साल 2007 में टाटा ग्रुप ने united kingdom की Corus Group को खरीद लिया था | 1945 को tata moters की नीव राखी गई और आज टाटा मोटर्स passenger cars, truck, van, bus, sports cars, construction equipment और military vehicles बनाता है | 

Tata moters के manufacturing plant दुनिया भर में मौजूद है | टाटा मोटर्स ने अपनी पहली commercial vehicle कार 1954 में Daimler Benz के साथ मिलकर बनाई थी | लेकिन 1969 के बाद टाटा ने खुद की गाड़ी बनाना शुरू कर दिया था | 

जब रतन टाटा ने tata group को संभाला तो उन्होंने सोचा कि भारतीयों के लिए एक ऐसी passenger car बनाई जाए जिसमे best quality हो और लोगों के बजट में भी हो | उसी सपने को पूरा करते हुए टाटा कम्पनी ने 1998 में टाटा की पहली कार tata indica मार्किट में launch की लेकिन इस कार की बिक्री market में उतनी नहीं हुई और कम्पनी घाटे में जाने लगी | 

1999 आते आते रतन टाटा ने टाटा ग्रुप की कार कम्पनी को बेचने का फैसला किया और इसे खरीदने के लिए अमेरिकन कम्पनी ford तैयार हो गई | लेकिन जब रतन टाटा ford कम्पनी में अपने डील को final करने के लिए गए तो उन्होंने रतन टाटा से कहा कि “अगर आपको कार बनाना नहीं आता तो आप बनाते क्यूँ” ये बात रतन टाटा को पसंद नहीं आई और रतन टाटा डील cancel करके भारत आये और अपने कार बनाने का काम को जारी रखा और अपने कम्पनी को सफल बनाया |

साल 2008 में फिर से ford और tata कम्पनी के बीच car company को बेचने की deal हुई लेकिन इस बार ford कम्पनी अपनी कार कम्पनी Jaguar और Land Rover को बेचने भारत आई थी जो 18% घाटे में चल रही थी | लेकिन जब उन कम्पनी को कोई नहीं खरीद रहा था तब टाटा कम्पनी ने उन दोनों कम्पनी को खरीद लिया था और आज ये दोनों कार टाटा के best cars में से एक है |  

Tata Groups के Companies

टाटा ग्रुप के 96 से भी ज्यादा कम्पनी मौजूद है जो 40 से अधिक देशो में फैला हुआ है | टाटा ग्रुप के कुछ कम्पनी के list आपको नीचे दिखाई देंगे |

  1. Tata Consultancy Service
  2. Tata Motors
  3. Tata Steel
  4. Tata Chemicals
  5. Tata Power
  6. Tata Hotels
  7. Tata Capitals
  8. Tata Sky
  9. Tata Communications
  10. Tata CLiQ

इतना कुछ होने के बावजूद भी रतन टाटा एक साधारण ज़िन्दगी जीते है और इतना कुछ होने के बावजूद भी उनका नाम भारत के top 10 richest man में नहीं आता है क्यूंकि वे अपने income का 65% हिस्सा charity में दान कर देते है | रतन टाटा की एक बात जो आपको भी अपनाना चाहिए उनका कहना है “मै सही फैसले लेने में विशवास नहीं रखता हूँ मै जो फैसले लेता हूँ उन्हें सही बनाता हूँ” |

Q1. Tata कम्पनी के नए chairman कौन है?

Ans :- वर्तमान में टाटा कम्पनी के chairman Natarajan Chandrasekaran है |

Q2. Tata Groups का headquarter कहाँ है?

Ans :- टाटा ग्रुप का headquarter Mumbai में स्थित है |

Q3. Tata कम्पनी का सबसे पहला business क्या था?

Ans :- टाटा का सबसे पहला बिजनेस कपड़े का था |  

> Amazon का मालिक कौन है ये किस देश की कम्पनी है

> OYO का मालिक कौन है | OYO Full Form

> Google का Full Form | Google का क्या मतलब होता है 

Conclusion :

दोस्तों, मुझे उम्मीद है कि आपको टाटा कम्पनी के बारे में विस्तार से जानकारी मिल गई होगी और tata company ka malik के बारे में भी पता चल गया होगा | अगर आपको इस article से कोई सवाल है तो आप है comment में पूछ सकते है | और अगर आपको यह article पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर share करें |

Leave a Comment