राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2022: 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में क्यों मनाया जाता है?

भारत हर साल सीवी रमन को सम्मानित करने के लिए 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाता है।

सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक और कई लोगों के लिए प्रेरणा के रूप में जाने जाने वाले, रमन का काम अक्सर मॉडर्न विज्ञान में मददगार साबित हुआ है|

रमन पहले व्यक्ति थे जिन्हें 1917 में राजाबाजार साइंस कॉलेज में भौतिकी के पालित प्रोफेसर के रूप में नियुक्त किया गया था।

भारत हर साल रमन प्रभाव की खोज को याद करने के लिए राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाता है|

एक ऐसी खोज जिसने उन्हें 1930 में भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार भी दिलाया।

CV Raman ने 20 फरवरी 1928 को physics के क्षेत्र में एक खोज की थी। इस खोज को रमन प्रभाव (Raman Effect) के नाम से जाना जाता है।

सीवी रमन को उनकी उल्लेखनीय खोज के लिए आज भी याद किया जाता है।