What is Cyber Security in Hindi | साइबर सिक्यूरिटी क्या है

Rate this post

What is Cyber Security in Hindi? कंप्यूटर के बढ़ने से आज लगभग हर क्षेत्र में कंप्यूटर और इन्टरनेट का इस्तेमाल किया जा रहा है| आज हमारा हर काम इन्टरनेट के ज़रिये ही किया जाता है फिर चाहे वो सरकारी कंपनी का काम हो या फिर प्राइवेट कंपनी का काम हो| आज पैसे का लेनदेन भी इन्टरनेट के द्वारा ही किया जा रहा यानी हर प्रकार के डेटा का आदान प्रदान किसी न किसी रूप में इन्टरनेट पर हो रहा है और यूजर की डिवाइस जैसे mobile, laptop, tablet इत्यादि इन्टरनेट पर कनेक्ट होकर रहती है|

जिस स्तर पर पूरी दुनिया में इन्टरनेट का इस्तेमाल किया जा रहा है और प्रतिदिन लाखो करोड़ो लोग इसका इस्तेमाल करते है वैसे में बहुत ज़रूरी है कि यूजर की security पर भी ध्यान दिया जाए क्यूंकि आय दिन इन्टरनेट पर fraud, hacking, virus attack, data theft के शिकार बनते लोगों की खबरे मिलती रहती है| इसी लिए यूजर के डेटा को security प्रदान करना बहुत ज़रूरी हो गया है|

इन्टरनेट के यूजर को साइबर क्राइम से बचाने के लिए cyber security का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें यूजर के डेटा को सुरक्षा प्रदान की जाती है| साइबर सिक्यूरिटी के बारे में आपने ज़रूर सुना होगा लेकिन शायद इसके बारे में आपको पूरी जानकारी नहीं होगी इसलिए आज के इस आर्टिकल में मैं आपको साइबर सिक्यूरिटी क्या है, साइबर अटैक कितने प्रकार के होते है और इसके इस्तेमाल करने के क्या लाभ होते है इससे जुड़ी सारी जानकारी देने वाला हूँ|

साइबर सिक्यूरिटी क्या है : What is Cyber Security in Hindi

साइबर सिक्यूरिटी एक प्रकार की सुरक्षा है जो इन्टरनेट से जुड़ी सिस्टम के लिए होती है| cyber security दो शब्दों से मिलकर बना है पहला है “cyber” और दूसरा “security” है| जो internet, information, technology, networks, data, computer, application से सम्बंधित होता है उसे cyber कहा जाता है जबकि security सुरक्षा से सम्बंधित है जिसमें system security, network security, application security, information technology शामिल होते है|

साइबर सिक्यूरिटी मजबूत करने के लिए इन्टरनेट के माध्यम से हार्डवेयर और सॉफ्टवेर को और भी secure बनाया जाता है जिससे किसी भी तरह से डेटा की चोरी न हो और सभी डॉक्यूमेंट और फाइल सुरक्षित रहे| आज पूरी दुनिया में साइबर क्राइम को रोकने के लिए साइबर सुरक्षा की जा रही है| साइबर सिक्यूरिटी के आधार पर कोई भी organization या कोई भी यूजर अपने महत्वपूर्ण डेटा को हैकर बिना परमिशन के इलेक्ट्रॉनिक टूल की मदद से यूजर या organization के कंप्यूटर को एक्सेस कर लेते है फिर ज़रूरी फाइल और डॉक्यूमेंट की चोरी करते हैं और उसके बदले पैसे मांगते हैं|

इन्टरनेट का उपयोग करके किसी भी क्राइम को करना साइबर क्राइम कहा जाता है और जो ये क्राइम करते हैं उन्हें unethical hackers कहा जाता है| इसका मतलब है कि इन्टरनेट का गलत तरीके से इस्तेमाल करके नुक्सान पहुँचाना या इन्टरनेट के माध्यम से होने वाले अपराधो को साइबर क्राइम कहा जाता है|

ऐसे हैकर और साइबर क्राइम से यूजर के डेटा को बचाने के लिए साइबर सिक्यूरिटी को बनाया गया है| साइबर सिक्यूरिटी के लिए कंप्यूटर और इन्टरनेट के एक्सपर्ट होते है जिसके द्वारा साइबर सुरक्षा की जाती है|

साइबर सिक्यूरिटी का मतलब है कि हमारी ऑनलाइन राखी गई फाइल डेटा और हमारी ऑनलाइन दी गई सभी जानकारियां सुरक्षित होना चाहिए| इसके अलावा नेटवर्क और एप्लीकेशन भी सुरक्षित होना चाहिए|

साइबर अटैक या साइबर क्राइम कितने प्रकार के होने है

आज पूरी दुनिया में इन्टरनेट का इस्तेमाल बहुत ज़्यादा किया जा रहा है आज हम सभी लोग अपना काम इन्टरनेट के माध्यम से ही कर रहे है| अधिकाँश कंपनी आज कंप्यूटर database पर ज़्यादा से ज़्यादा इनफार्मेशन स्टोर कर रही है और हम सब क्रेडिट कार्ड की मदद से ऑनलाइन खरीदारी करते हैं जिससे हमारी डेटा और जानकारी जोखिम में रहती है| इसीलिए साइबर क्राइम को रोकने के लिए सभी देश में साइबर सिक्यूरिटी का अलग से क़ानून बनाया गया है जिसका मकसद इन्टरनेट के माध्यम से होने वाले high tech अपराधो पर लगाम लगा सके|

लेकिन सभी इन्टरनेट यूजर को इस बात की जानकारी होनी बहुत ज़रूरी है कि कितने प्रकार के साइबर अटैक होते है जिससे की तुरंत हम साइबर सिक्यूरिटी के लिए का करने वाले अधिकारियों को सूचित कर सके| तो चलिए अब हम अलग अलग साइबर अटैक के बारे जानते हैं|

Virus : कंप्यूटर वायरस के बारे में तो अपने सुना ही होगा जो एक प्रकार का malware program होता है जिन्हें विशेष रूप से यूजर के कंप्यूटर को नुक्सान पहुँचाने के लिए बनाया जाता है| वायरस सही समय पर कॉपी होकर पूरे सिस्टम में फैल जाते है और कंप्यूटर यूजर के अनुमति के बिना ही कंप्यूटर को संक्रमित कर सकते है और डेटा चुरा सकते है|

Adware : Adware मैलवेयर का एक समूह है जो popup messages को open करने के लिए जाना जाता है| आकर्षित add का इस्तेमाल करके हैकर एक सॉफ्टवेर बनाता है और जब कोई यूजर उस सॉफ्टवेर को डाउनलोड करता है तो हैकर उस सॉफ्टवेर की मदद से उस कंप्यूटर को एक्सेस कर लेता है और उसके बाद या तो ज़रूरी डेटा को delete कर देता है या फिर डेटा चोरी कर लेता है|

Trojan Horse : यह भी एक तरह का malware प्रोग्राम है जो खुद को हानिरहित या उपयोगी सॉफ्टवेर के रूप में प्रस्तुत करता है| ट्रोजन हमारे सिस्टम को कण्ट्रोल कर लेता है और malicious action को अंजाम देता है| ट्रोजन हॉर्स अन्य वायरस की तरह अपनी कॉपी तो create नहीं कर सकता लेकिन यह वायरस को सिस्टम में install कर सकता है| एक trojan सिस्टम की फाइल तथा डेटा को delete कर सकता है महत्वपुर्ण डेटा तथा पासवर्ड को चुरा सकता है और सिस्टम को लॉक कर सकता है|

Ransomware : यह एक तरह का वायरस होता है जो अपराधियों के द्वारा लोगों के कंप्यूटर या सिस्टम में हमला करने के लिए काम आता है| ये कंप्यूटर में पड़ी फाइल को नुक्सान पहुंचता है फिर अपराधी ने जिस किसी का भी सिस्टम इस तरह से खराब किया होता है, उससे रिश्वत लेता है और उसके बाद उसको छोड़ता है|

Phishing Email : फिसिंग ईमेल का उपयोग आम तौर पर यूजर की निजी जानकारी चुराने के लिए होता है और यह एक तरह का फ्रॉड होता है जिसमें फ्रॉड वाले ईमेल लोगों को भेजे जाते है जिससे कि उन्हें यह लगे कि यह ईमेल किसी अच्छी संस्था से आया है| इस तरह के ईमेल का मकसद ज़रूरी डेटा को चुराना होता है जैसे कि क्रेडिट कार्ड की जानकरी या फिर लॉग इन की जानकारी|

साइबर सिक्यूरिटी के इस्तेमाल करने के क्या फायदे है

साइबर सिक्यूरिटी के कई लाभ है| इसके द्वारा हर स्तर पर नेटवर्क को इन्टरनेट पर होने वाले बाहरी खतरों से बचाया जाता है जिससे एक आम यूजर अपना काम बिना किसी खतरा के नेटवर्क या इन्टरनेट पर कर सके| साइबर सिक्यूरिटी के अन्य फायदे भी है जैसे कि साइबर सिक्यूरिटी बाहरी हमलो से user और organization के नेटवर्क को सुरक्षित करते है| साथ ही यह भी सुनाश्चित करते हैं कि यूजर को इन्टरनेट पर अच्छा प्रदर्शन मिले और अपना महत्वपूर्ण डेटा के बारे में वह सुरक्षित महसूस करे|

डेटा को सुरक्षा प्रदान की जाती है जिससे महत्वपूर्ण डेटा लीक या चोरी होने का खतरा कम हो जाता है| इन्टरनेट पर हजारो तरह के डेटा database में रखे जाते है जैसे मरीजों के डेटा, छात्र के डेटा, व्यापार के डेटा इत्यादि|

साइबर सिक्यूरिटी इसलिए भी ज़रूरी है क्यूंकि गवर्नमेंट, मिलिट्री, मेडिकल आर्गेनाइजेशन , फाइनेंसियल इत्यादि काफी तरह के डेटा को इकट्टा करते है और उस डेटा को अपने सिस्टम, कंप्यूटर और अन्य डेटा डिवाइस में स्टोर कर के रखते है| इन डेटा के कुछ भाग बहुत महत्वपूर्ण होता हो सकता है जिससे चोरी होने से किसी की निजी जिंदगी पर काफी गहरा प्रभाव पड़ सकता है| इसीलिए साइबर सिक्यूरिटी की मदद से डेटा को सुरक्षित रखा जाता है|

निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको साइबर सिक्यूरिटी के बारे में जानकारी दी जैसे कि साइबर सिक्यूरिटी क्या है, साइबर क्राइम क्या है, साइबर अटैक क्या है, साइबर सिक्यूरिटी के कितने प्रकार होते है, साइबर सिक्यूरिटी इस्तेमाल करने से क्या फायदा है इत्यादि| मझे आशा है कि इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको साइबर सिक्यूरिटी के बारे में पूरी जानकारी मिल जायेगी| अगर आपको यह आर्टिकल What is Cyber Security in Hindi पसंद आया है तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें|

यह भी पढ़े :

ISP क्या है और यह कैसे काम करता है

VPN क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है

Starlink क्या है और यह भारत में कब लांच होगा 

रेडिएशन क्या है पूरी जानकारी

Satellite क्या है और यह हवा में कैसे टिके रहता है 

Leave a Comment