What is Diploma in Hindi | डिप्लोमा क्या होता है और कैसे करें

1/5 - (1 vote)

What is Diploma in Hindi? दोस्तों, आपने अक्सर अपने आस पास लोगों के मुहं से डिप्लोमा का नाम ज़रूर सुना होगा और बहुत से लोगों ने आपको इसके बारे में सलाह भी दिया होगा| तो चलिए आज हम जानते हैं कि आखिर यह डिप्लोमा क्या है और इसे करना चाहिए या नहीं|

आज हम सभी अच्छे से अच्छे एजुकेशन लेना चाहते हैं और बड़ी से बड़ी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी का हिस्सा बनना चाहते है ताकि हमारे एजुकेशन का जो स्तर है वो काफी अच्छा हो| हमे बढ़िया से बढ़िया जॉब मिल सके या हम अपना खुद का बिज़नस शुरू कर पायें| इसके लिए हम बहुत सोचते है और बहुत सरे नए-नए कोर्स के बारे में जानते है और बहुत सारे कोर्स और सब्जेक्ट को compare भी करते है ताकि हम वो choose कर सके जो हमारे लिए सही साबित हो और हमें success दिलाये|

लेकिन अगर आप किसी सब्जेक्ट में डिग्री लेने तक की ही जानकारी रखते है तो आपको डिप्लोमा के बारे में ज़रूर जानना चाहिए क्यूंकि किसी सब्जेक्ट में डिप्लोमा करने से ही आप बहुत जल्दी ही एक अच्छी जॉब पा सकते हैं| इसी लिए आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको डिप्लोमा से जुड़ी छोटी बड़ी सारी जानकारी देनें वाला हूँ कि डिप्लोमा क्या होता है, डिप्लोमा क्यूँ करना चाहिए, इसकी डिग्री कैसे मिलती है इत्यादि| तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि Diploma Kya Hai?

डिप्लोमा क्या होता है : What is Diploma in Hindi

डिप्लोमा किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी के द्वारा दिया गया एक ऐसा certificate होता है जो बताता है कि diploma holder ने इस सब्जेक्ट में पढ़ाई पूरी कर ली है| डिप्लोमा किसी भी सब्जेक्ट में लिया जा सकता है और इसके लिए सब्जेक्ट चुनने का जो option है वो भी वैसा ही होता है जैसे डिग्री में सब्जेक्ट चुनने का होता है| यानी जिस यूनिवर्सिटी से आप डिप्लोमा करना चाहते है उसके प्रॉस्पेक्टस को देखकर अपना सब्जेक्ट चुन सकते हैं|

डिप्लोमा करने समय आपको अपना इंटरेस्ट का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है यानी जिस किसी फील्ड में आप अपना करियर बनाना चाहते है उसे ध्यान में रखते हुए डिप्लोमा का सब्जेक्ट चुने|

डिप्लोमा और डिग्री में अंतर

किसी भी सब्जेक्ट में मास्टर डिग्री Mphil या PHD करने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री ज़रूरी होती है यानी आप हाई एजुकेशन लेना चाहते हैं तो आपके पास डिग्री होना ज़रूरी है| डिग्री कोर्स में हर सब्जेक्ट की deep study करायी जाती है| ताकि स्टूडेंट उस सब्जेक्ट से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी ले सके और उस सब्जेक्ट का एक्सपर्ट बन सके| इसी लिए डिग्री कोर्स करने में समय भी ज़्यादा लगता है यानि डिग्री कोर्स करने में दो से चार साल का वक़्त लगता है|

जहाँ तक डिप्लोमा की बात है तो डिप्लोमा में किसी स्पेशल सब्जेक्ट के बारे में पढ़ाया जाता है| इसकी duration कम होती है और इस दौरान किसी बिज़नस या प्रोफेशन के बारे में जानकरी दी जाती है| इसमें कुछ दिन जॉब या इंटर्नशिप भी कराई जाती है| कुछ डिप्लोमा कोर्स 6 महीने में ख़तम हो जाते है और कुछ कोर्स 1 या 2 साल के होते है| डिप्लोमा करने के बाद आप आसानी से related सब्जेक्ट में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं| डिप्लोमा कोर्स की ख़ास बात यह है कि आप 8 क्लास के बाद भी डिप्लोमा कर सकते है और हाई एजुकेशन के बाद भी डिप्लोमा किया जा सकता है|

डिप्लोमा करने के फायदे

दिस्प्लोमा होल्डर को जॉब मिलने की संभावना काफी ज़्यादा बढ़ जाते है| डिग्री कोर्स में जगन theoritically knowledge दी जाती है वही डिप्लोमा में practically knowledge दी जाती है| यानी डिप्लोमा में आपमें उन skill को develope कराया जाता है जो जॉब के दौरान आपको ज़रुरत होती है| इसका फायदा आपको जॉब के दौरान मिलता है और जॉब मिलने के आपके chance ज़्यादा बढ़ जाते है|

अगर आपने अपने इंटरेस्ट के सब्जेक्ट में डिप्लोमा कर लिए है और फ्रेशर है तो भी आपकी skill जॉब के शुरुआत में भी आपको अच्छी सैलरी दिला सकती है|

डिप्लोमा करने में कितना समय लगता है

डिप्लोमा करने के लिए अआप्को बहुत साल लगाने की ज़रुरत नहीं पड़ती है बल्कि एक से दो साल के अन्दर ही डिप्लोमा complete हो जाता है| हलांकि इंजीनियरिंग से जुड़े सब्जेक्ट को करने में तीन साल का समय लगता है लेकिन बहुत से डिप्लोमा कोर्स ऐसे हैं जो एक साल से कम में ही पूरा हो जाता है| डिप्लोमा करने का समय आपके द्वारा चुने गए सब्जेक्ट पर निर्भर करता है और जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी से आप डिप्लोमा कर रहे है उस पर भी निर्भर करता है|

डिप्लोमा किन-किन सब्जेक्ट में किया जा सकता है

यानि अगर आप सिर्फ 8वीं तक ही पढ़ पायें हैं और आगे नौकरी करना चाहते हैं तो अप इसके लिए अपने समझ और इंटरेस्ट के आधार पर ऐसे सब्जेक्ट में डिप्लोमा कर सकते हैं जिससे कि आपको जॉब मिल सके जैसे कि wireman, carpenter, pattern maker, plastic printing operator आदि|

इसी तरह 10th level की एदुकातियो के बाद आप commercial art, diesel mechanic, mechanic electronics, tool maker जैसे कितने सब्जेक्ट में से अपने लिए option चुन सकते हैं| और अगर आप 12th के बाद डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको computer operator, programming assistant और stenography जैसे बहुत से आप्शन मिलते हैं|

इसके अलावा अलग अलग एजुकेशन लेवल के अनुसार डिप्लोमा सब्जेक्ट आपको इल सकते है जैसे कि Advance Electronics, Baker & confectioner, Desktop Publishing Operator, Electrician, Instrument Mechanic, Metrology & Engineering Inspection, Mechanic Computer Hardware.

निष्कर्ष :

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको डिप्लोमा से जुड़ी सारी जानकारी दी जैसे डिप्लोमा क्या है ( What is Diploma in Hindi ), डिप्लोमा और डीग्री में क्या अंतर होता है, डिप्लोमा करने के क्या फायदे होते हैं इत्यादि| मुझे आशा है कि आपको डिप्लोमा के बार में पूरी समझ हो गई होगी| अगर आपको डिप्लोमा से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप कमेंट में बता सकते है और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को ज़रूर शेयर करें|

यह भी पढ़े :

LLB Full Form in Hindi

CRPF Full Form in Hindi

MBBS Full Form in Hindi

NEET Full Form in Hindi

SSC Full Form in Hindi

ITI Full Form in Hindi

Leave a Comment